CM Yogi Adityanath

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री स्वाति सिंह द्वारा अंसल ग्रुप के खिलाफ दर्ज एक मामले को लेकर लखनऊ कैंट के क्षेत्राधिकारी (सीओ) को धमकी देने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को उन्हें (स्वाति सिंह को) तलब किया है।

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह और चीफ सेक्रेट्री राजेंद्र तिवारी को तलब किया है। रंजन गोगोई दोनों अफसरों से आज दिन में मिलेंगे। माना जा रहा है कि अयोध्या पर संभावित फैसले से पहले की तैयारियों को लेकर यह मुलाकात हो सकती है।

अयोध्या में विशेष तौर पर ड्रोन से सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। अयोध्या के चप्पे-चप्पे की ड्रोन से निगरानी की जा रही है। यहां सुरक्षा को लेकर पहले से हाई अलर्ट है। जगह-जगह जवानों की तैनाती की गई है, ताकि कोई घटना ना घटें। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी के विकास की दिशा में एक बड़ा कदम उठाया है। अब विकास कार्यों की ऑनलाइन समीक्षा हो सकेगी। सीएम के निर्देश पर इसे जिला स्तर पर लागू किया जा रहा है। अब हर जिले की ऑनलाइन समीक्षा मुमकिन हो सकेगी।

अयोध्या विवाद के संभावित फैसले व कार्तिक मेले को लेकर प्रशासन हाई अलर्ट पर है। इस सिलसिले में जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने पुलिस लाइन के ग्राउंड में संयुक्त बैठक की।

5 नवंबर व 7 नवंबर को प्रशासन ने स्थानीय अवकाश घोषित कर दिया है। जिलाधिकारी ने 14 कोसी परिक्रमा के  मद्देनजर  5 नवंबर का अवकाश घोषित किया है। इसी तरह  पंचकोशी यात्रा के मद्देनजर 7 नवंबर का अवकाश घोषित किया गया है।

प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट में कहा, "उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार ने राज्य के विद्युत निगम के कर्मचारियों के भविष्य निधि का पैसा डीएचएफएल जैसी एक डिफॉल्टर कंपनी में निवेश किया।"

उत्तर प्रदेश सरकार ने गुरुवार देर रात प्रदेश में बड़ा फेरबदल करते हुए 25 भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) तथा 22 भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारियों का स्थानांतरण (ट्रांसफर) कर दिया। इनमें लखनऊ और वाराणसी समेत नौ जिलों के जिला अधिकारियों (डीएम) का भी ट्रांसफर किया गया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अयोध्या मामले में फैसले से पहले कई अहम कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। आरएसएस ने अपने प्रचारकों को अपने अपने केंद्रों पर मौजूद रहने के लिए कहा है। संघ के इस नवंबर महीने में कई कार्यक्रम प्रस्तावित हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को समाजवादी पार्टी के संरक्षक और पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव मुलाकात की। वहीं मुलाकात के दौरान प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया और मुलायम के छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव भी मौजूद रहे।