Congres

एक प्राइवेट न्यूज चैनल के रिपोर्टर अंकित गुप्ता इसको लेकर अपने ट्वीट में कहते हैं कि, "वैसे Delhi Exit Polls के आने के बाद एक बात थोड़ी अजीब लग रही है कि जिस आम आदमी पार्टी के पक्ष में सारे नतीजे दिख रहे हैं वो अभी भी खुलकर नहीं बोल पा रही

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश में जुटी कांग्रेस को अब एक के बाद एक अपनी ही पार्टी के नेता झटका दे रहे है। एक ओर कांग्रेस पार्टी नागरिकता कानून का विरोध कर रही है, जबकि कांग्रेस के ही कुछ दिग्गज नेता सीएए का समर्थन कर रहे हैं।

कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) पर देश में हो रहे उत्पात के लिए प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को जिम्मेदार ठहराया तो भाजपा ने हमला बोला है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने देर रात बयान जारी कर कहा है कि सोनिया गांधी छात्रों के लिए घड़ियालू आंसू बहा रहीं हैं।

बहुजन समाज पार्टी ने एक बार फिर से मायावती के पार्टी की कमान सौंपी है और उन्हें निर्विरोध पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है। बसपा की राष्ट्रीय मीटिंग में सर्वसम्मति से इस फैसले पर अमल किया गया।

इससे पहले कर्नाटक में जारी सियासी घमासान के बीच वहां के राज्यपाल ने फ्लोर टेस्ट कर कांग्रेस और जेडीएस को शाम 6 बजे तक का समय दिया था।

आनंद राज अंबेडकर ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सिर्फ कांग्रेस ही बाबासाहेब अंबेडकर के सपने को साकार कर सकती है। उन्होंने अपने समर्थकों से दिल्ली की सभी सातों सीटों पर कांग्रेस को जिताने के लिए काम करने की अपील की।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी की मध्य प्रदेश की सियासत में बीते डेढ़ दशक में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने...

नई दिल्ली। एक तरफ जहां विपक्षी दल एकजुट होकर 2019 में मोदी सरकार को हराने का प्लान तैयार कर रहे...