congress

लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर कांग्रेस पर हमला बोला। लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के बयान का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार को इस बात के लिए कोसा जाता है कि उनकी सरकार ने कुछ लोगों को जेल में क्यों नहीं डाला।

पुरी ने राजघाट समाधि समिति के दो सदस्यों के चयन का प्रस्ताव पेश किया और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला के औपचारिक ध्वनि मत लाने से पहले ही पुरी बहिर्गमन कर गए।

राजनाथ सिंह ने आपातकाल व इसके बाद की घटनाओं को भारतीय इतिहास का 'सबसे काला अध्याय' बताया। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, "इस दिन हम भारत के लोगों को अपने संस्थानों व संविधान की अखंडता को कायम रखने के महत्व को याद रखना चाहिए।"

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार पर हमला करते हुए कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, "सरकार बदल गई है, लेकिन अर्थव्यवस्था से खिलवाड़ अभी भी जारी है।"

राहुल की लगातार हो रही फजीहतों को देखते हुए उनके करीबी कांग्रेसी नेता प्रकाश जोशी ने अपनी एक पोस्ट के जरिए सवाल किया है कि, "क्या वास्तव में पिछले कुछ वर्षों में राहुल जी की छवि धूमिल करने के लिए मात्र BJP ही ज़िम्मेदार है?"

सलमान खुर्शिद ने स्वीकार किया की लोकसभा चुनावों में मोदी की सुनामी चली थी। उन्होंने कहा कि, 'आज तो हम यही जानते हैं कि चुनाव हुआ और चुनाव में पीएम मोदी की लोकप्रियता इतनी थी कि उसके सामने कोई खड़ा नहीं हो पाया'।

लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस पार्टी की करारी हार के बाद पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद को बड़ा झटका लगा है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के सामने कोई खड़ा नहीं हो पाया। पीएम मोदी की सुनामी में सब कुछ बह गया।

राहुल गांधी ने इसके पहले भारतीय सेना और उसके विशिष्ट स्वान दस्ते (डॉग स्क्वायड) के योग करते दिख रही तस्वीर पोस्ट कर मजाक उड़ाया था। उन्होंने कुत्तों और उनके उस्तादों द्वारा योग करते हुए दो तस्वीरें ट्वीट की थीं। 

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में भारी हंगामे के बीच यह बिल पेश किया। सरकार के पिछले कार्यकाल में भी तीन तलाक पर बिल लाया गया था लेकिन लोकसभा से पारित हो जाने के बाद यह बिल राज्यसभा से पास नहीं हो पाया था।

कांग्रेस की कर्नाटक प्रदेश इकाई को भंग होने के एक दिन बाद पार्टी सूत्रों ने गुरुवार को बताया कि कुछ और प्रदेशों की इकाइयों में बदलाव किया जा सकता है।