coronavirus lockdown

UNLOCK 5.0: गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) के निर्देश के मुताबिक अनलॉक-5 (Unlock 5.0) में सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स 50 प्रतिशत सीटों के साथ खोले जाएंगे। 15 अक्टूबर से सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, एंटरटेनमेंट पार्कों को खोला जाएगा। वहीं स्वीमिंग पूल्स को खिलाड़ियों की ट्रेनिंग के लिए खोला जाएगा।

ईरान में फंसे कुल 687 भारतीयों को लेकर भारतीय नौसेना का पोत आईएनएस जलाश्व बुधवार को यहां तूतीकोरिन में वीओ चिदंबरनार बंदरगाह पहुंचा। एक रक्षा अधिकारी ने यह जानकारी दी।

जिला अस्पताल में भर्ती सक्रिय मामलों के मरीजों में एक सफाई कर्मचारी भी शामिल है। एक आउटसोर्स कर्मचारी के पॉजीटिव पाए जाने के बाद आयकर विभाग की इमारत की दो मंजिलों को दो दिनों के लिए सैनिटाइजेशन के लिए सील कर दिया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर इसके वर्ग के तात्कालिक हित के लिए कई कदम (1000 रुपये का भरण-पोषण भत्ता, राशन किट, मनरेगा के तहत अधिकाधिक श्रम दिवसों का सृजन और दक्षता के अनुसार औद्योगिक इकाईयों में समायोजन आदि) उठाए गये।

उद्धव ठाकरे ने चेतावनी दी है कि अगर नियमों का पालन नहीं किया जाएगा तो फिर से लॉकडाउन लागू किया जा सकता है। उद्धव ठाकरे ने कहा, 'कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, ऐसे में अगर भीड़ का जुटना जारी रहा तो लॉकडाउन को अभी और आगे बढ़ाया जा सकता है। ढील दी गई है, इसे बर्बाद न करें।'

केंद्र सरकार ने हाल ही में एमएसएमई इकाईयों के लिए तीन लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की है। सरकार की मंशा है कि सर्वाधिक आबादी, एमएसएमई इकाइयों और उत्पादन की विविधता के मद्देनजर पैकेज का अधिकतम लाभ उत्तर प्रदेश को मिले।

मालूम हो कि दूसरे प्रदेशों से अब तक करीब 30 लाख से अधिक कामगार एवं श्रमिक अब तक वापस आ चुके हैं। इनमें से करीब 24 लाख के स्किल की मैपिंग हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट पर पिछले चार दिन के दौरान गहनता से विचार करने के बाद हमने 14,000 करोड़ रुपये का 'गुजरात आत्मनिर्भर पैकेज' देने का फैसला किया है। 

प्रदेश में ऐसा पहली बार हो रहा है कि किसी सरकार के कार्यकाल में स्वास्थ्य उपकरणों को लाने के लिए स्टेट प्लेन की मदद ली जा रही है। लेकिन योगी सरकार के कार्यकाल में यह पहली बार नहीं हो रहा है। इससे पहले वह दो बार मेडिकल इक्विपमेंट मंगाने के लिए वह अपना सरकारी जहाज बैंगलोर और गोवा भेज चुके हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत ऑस्ट्रेलिया के साथ अपने सम्बन्धों को व्यापक तौर पर और तेज़ गति से बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। यह न सिर्फ़ हमारे दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण है, बल्कि 'इंडो पेसिफिक' क्षेत्र और विश्व के लिए भी आवश्यक है।