coronavirus lockdown

योगी सरकार हर कामगार/श्रमिक को बीमा की सुरक्षा देने जा रही है। प्रदेश में एक जनपद के कामगार व श्रमिक को दूसरे जनपद में रोजगार मिलने पर सरकार उनकी आवासीय व्यवस्था भी करेगी।

चीफ जस्टिस ने कहा कि डीजीसीए के महानिदेशक और एयर इंडिया अगर जरूरी समझते हैं तो नियमों छूट ले सकते हैं। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट को इंटरनेशनल फ्लाइट्स के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए अलग आदेश जारी करने को कहा है। 

वीडियो साझा करने पर अब बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने राहुल गांधी और कांग्रेस पर निशाना साधा। मायावती ने इस वीडियो को नाटक करार दिया है।

राहुल ने इस वीडियो में मजदूरों के भविष्य के बारे में सवाल उठाए हैं। राजधानी दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे से लेकर देश के विभिन्न हिस्सों के प्रवासी मजदूरों का वीडियो शामिल है। वीडियों में सुखदेव विहार में मजदूरों के साथ राहुल गांधी की बातचीत का वीडियो भी शामिल हैं।

संजय आखिरी बार बड़े पर्दे पर साल 2019 में आई ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर आधारित फिल्म 'पानीपत' में नजर आए थे। लॉकडाउन के बाद 'सड़क 2' सहित उनकी और भी कई परियोजनाएं रिलीज होने की कतार में है।

इस बैठक में केंद्र सरकार की ओर से घोषित आर्थिक सुधारों की समीक्षा भी होगी। सूत्रों ने बताया कि कोरोना के संकट से जूझते हर वर्ग को मिले राहत पैकेज की समीक्षा और आर्थिक सुधारों का क्रियान्वयन इस मीटिंग का एजेंडा है।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि पिछले चार दिनों में आत्मनिर्भर भारत के लिए लैंड, लेबर, लिक्विडिटी और लॉ पर आज का फोकस किया गया है।

संविदा शिक्षिका दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के साथ काम कर रही थीं और उनकी कोविड -19 के कारण मृत्यु हो गई। एमसीडी ने रविवार को इस बात की घोषणा की थी। महिला की मृत्यु 4 मई की रात एक अस्पताल में हो गई थी जहां उन्हें 2 मई से भर्ती कराया गया था।

सूत्रों से खबर है कि पीएम मोदी की ओर से आज लॉकडाउन के चौथे चरण का ऐलान किया जा सकता है। इस चरण लोगों में ज्यादा छूट जाएगी. साथ ही पीएम मोदी, देश के सामने सिलसिलेवार लॉकडाउन एग्जिट प्लान का ऐलान कर सकते हैं।

चिट्ठी में आगे लिखा गया है कि जो सड़क-ट्रैक पर चल रहे हैं, उन्हें समझाया जाए और खाने की सुविधा दी जाए। वहीं श्रमिक स्पेशल ट्रेन को लेकर गृह सचिव ने लिखा है कि राज्य सरकारें रेलवे के संपर्क में बनी रहें और श्रमिक ट्रेन की सुविधा को देखते रहें।