cricket

अश्विन ने बुधवार को अपनी आईपीएल "फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स के साथ इंस्टाग्राम पर बात करते हुए कहा, कुछ चीजों के साथ ताल मेल बैठाने में समय लग सकता है। लॉकडाउन का पूरा समय और इसका अनुभव हमारे लिए अलग दुनिया की तरह रहा है। प्राकृति हमें कह रही है कि हमें रुकना चाहिए और थोड़ा पीछे होना चाहिए। बीते वर्षों में हमने इस दुनिया का काफी नुकसान किया है। अब यह समय है जब धरती और भगवान को उसका गौरव वापस दें।"

ऑफ स्पिनर ने कहा, "मुझे लगता है कि इसका कोई स्थायी समाधान नहीं है। अगर आप सलाइवा का इस्तेमाल नहीं करोगे तो यह गेंदबाजों को खेल से दूर ले जाएगा, खासकर उपमहाद्वीप की परिस्थितियों में। आपको गेंद बनानी है तो आपको सलाइवा चाहिए होगा।"

2013 चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने उनका काफी आत्मविश्वास बढ़ाया था।

गौरतलब है कि ईएसपीएन क्रिकइंफो ने पूर्व और मौजूदा क्रिकेटरों को लेकर एक ट्वीट किया था, जिसमें पूछा था कि किस पूर्व और मौजूदा क्रिकेटर के बीच फैन्स बैट और बॉल की जंग देखना चाहेंगे।

मोइन इंग्लैंड की उस टीम का हिस्सा थे जिसने बीते साल नाटकीय अंदाज में विश्व कप जीता था। मोइन ने इस पर कहा, वह शानदार समय था। मुझे लगता है कि चार साल की सारी भावनाएं उमड़ आई थीं और काफी कुछ हो चुका था।

पार्थिव ने बताया कि बाद में वह दोनों आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए अच्छे दोस्त बन गए थे। उन्होंने कहा, "हां, ब्रिस्बेन में वह मुझे मारना चाहते थे, लेकिन बाद में हम अच्छे दोस्त बन गए।

दिग्गज गेंदबाज ने कहा, "लेकिन यह उनके बल्ले से निकलने वाली आवाज थी.. जब मैंने उन्हें पहली बार बल्लेबाजी करते देखा तो सबसे पहले इसी के बारे में सोचा। बल्ले की वो आवाज.. यह ऐसा था मानो गेंद ठीक उनके बल्ले के बीच में टकराई है।"

उन्होंने कहा, "वास्तव में कोई भी यह नहीं कहता है कि जब मैं बल्लेबाजी करने जाता हूं तो पहले पांच से 10 गेंदें खेलने में हार्ट रेट बढ़ रही होती है। दबाव महसूस होता रहता है। मुझे थोड़ा डर लगता है, क्योंकि हर कोई ऐसा ही महसूस करता है। हालांकि कोई यह नहीं जानता है कि कैसे इसका सामना करना है।"

संगाकारा ने स्काई स्पोटर्स के द क्रिकट शो पर कहा, "सुरक्षा की जहां तक बात है तो यह मायने नहीं रखता कि एशियाई टीम वहां जा रही है या विश्व की दूसरी टीम वहां जहां रही है।

34 साल की सना ने पाकिस्तान के लिए 120 वनडे और 106 टी 20 मैच खेले हैं और इसमें उन्होंने क्रमश: 1630 और 802 रन बनाए। उन्होंने साथ ही क्रमश: 151 और 89 विकेट भी चटकाए।