CWC

बता दें कि बीते दिनों में पार्टी के प्रदर्शन में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है इसपर चिंता जताते हुए कपिल सिब्बल(Kapil sibbal), गुलाम नबी आजाद(Gulam Nabi Azad), आनंद शर्मा(Anand Sharma), मुकुल वासनिक, जितिन प्रसाद, शशि थरूर और मनीष तिवारी समेत कई नेताओं ने कांग्रेस नेतृत्व को स्वहस्ताक्षरित पत्र लिखा था।

एक यूजर ने राहुल(Rahul Gandhi) के इस ट्वीट(Tweet) पर मुंबई में शिवसेना की गुंडागर्दी पर लिखा कि, "मुंबई में पूर्व नौसैना अधिकारी पर शिवसेना के गुंडों ने हमला किया और महाराष्ट्र(Maharshtra) में कांग्रेस(Congress) भी सत्ता की भागीदार हैं।इस मुद्दे पर बोलने में शर्म आ रही है या सत्ता की मलाई चाटने के लिए चुप्पी साधे बैठे हों।"

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर पलटवार करते हुए करारा जवाब दिया है।

कार्यकर्ताओं ने अपनी चिट्ठी में सोनिया गांधी(Sonia Gandhi) से कहा है कि, वो पार्टी को परिवार से ऊपर रखें। बता दें कि चार से पांच दशक तक कांग्रेस(Congress) की सेवा करने वाले इन नेताओं ने पार्टी में हावी परिवारवाद पर निशाना साधा है।

राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने अपने समर्थकों से कहा था कि उनके फिर से पदभार संभालने से पहले एक गैर गांधी परिवार के नेता को अध्यक्ष होना चाहिए और इस संबंध में बातचीत भी चल रही है।

पार्टी के भीतर ही गांधी परिवार(Gandhi Family) से बाहर का अध्यक्ष चुने की बात उठ रही है। जिसका फैसला आज होने वाली बैठक में संभव है। बता दें कि CWC की ये बैठक ऐसे समय में हो रही है जब कई बड़े नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी(Sonia Gandhi) को लिखी चिट्ठी में संगठन में बड़े बदलाव की मांग की है।

कांग्रेस इन दिनों भीतरी कलह से जूझ रही है। लोकसभा चुनाव में भारी हार के बाद कांग्रेस के भीतर काफी उथल-पुथल मची हुई है। पहले राहुल गांधी ने अध्यक्ष का पद छोड़ा और उनकी मां सोनिया ने उसे संभाल लिया।

सोनिया गांधी को कांग्रेस नेताओं ने एक बार फिर से पार्टी की बागडोर सौंप दी है। 72 दिन यानी करीब ढाई महीने की उहापोह की स्थिति के बाद सोनिया गांधी को फिर से कांग्रेस का सिरमौर बनाया गया है।

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर फैसला के लिए शनिवार को कांग्रेस वर्किंग कमिटी (CWC) की बैठक रात 8 बजे दोबारा होगी। इसमें राहुल गांधी के उत्तराधिकारी पर फैसला लिया जाएगा।

नया कांग्रेस अध्यक्ष चुनने के लिए जोन के हिसाब से पांच नेताओं की टीम बनाई गई है, जिसमें सोनिया गांधी और राहुल गांधी के भी नाम शामिल थे। लेकिन सोनिया ने इस बात पर ऐतराज जताया और खुद को और राहुल को इस कमेटी से अलग कर लिया।