delhi assembly election 2020

सीबीआई के अधिकारियों ने कहा कि गोपाल कृष्ण माधव नामक अधिकारी को टैक्स संबंधित मामले में कथित 2 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है। गोपाल कृष्ण माधव को गुरुवार देर रात गिरफ्तार किया गया।

दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा के लिए मतदान शनिवार को होगा। इन सीटों पर करीब 668 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, जिनके भविष्य का फैसला शनिवार को वोटिंग मशीन में कैद हो जाएगी।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचार खत्म हो गया। यह चुनाव अब तक का सबसे रोमांचक चुनाव रहा। प्रचार में दोनों ही तरफ से करारे वार किए गए। प्रचार के अंतिम वक्त में बीजेपी की ओर से अमित शाह और आम आदमी पार्टी की ओर से अरविंद केजरीवाल ने अंतिम दांव चला।

दिल्ली विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं वैसे-वैसे हर रोज अलग-अलग पार्टियों के नेताओं के नए रंग-डंग सामने आ रहे हैं। तो कहीं अपनी ही पार्टी से नाराज चल रहे नेता नए-नए खुलासे करते हुए नजर आ रहे हैं।

नवीन चौधरी ने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ऐसी सरकार है जिसने सभी वादे पूरे किए हैं। फ्री बिजली, फ्री पानी, महिलाओं के लिए फ्री यात्रा और युवाओं के लिए फ्री वाईफाई देने का वादा पूरा किया गया है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में बल्लीमारान विधानसभा सीट पर क्या फिर हारुन युसुफ बाजी मारेंगे, 5 बार इस निर्वाचन क्षेत्र से हारुन युसुफ जीत दर्ज कर चुके हैं। 2015 में नतीजे बदलने के बाद 2020 के चुनाव में इस विधानसभा क्षेत्र में चुनावी माहौल किस ओर इशारा कर रहा है।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन को लेकर भाजपा दिल्ली चुनाव बाद फिर से अभियान को तेज धार देने जा रही है। इसकी व्यापक तैयारी की गई है।

भाजपा नेताओं पर निशाना साधते हुए हर्षिता केजरीवाल ने कहा कि क्या लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधा देने वाला आतंकवादी हो सकता है। क्या बच्चों को शिक्षित करने वाला आतंकवादी हो सकता है। क्या बिजली और पानी की आपूर्ति में सुधार करने वाला आतंकवादी हो सकता है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर आप, भाजपा और कांग्रेस में जबरदस्त टक्कर देखने को मिल रही है। जहां एक तरफ पीएम मोदी ने दिल्ली के द्वारका में रैली कर जनता को संबोधन किया और केजरीवाल और राहुल गांधी को निशाने पर लिया

जैसे-जैसे दिल्ली विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे-वैसे राजनीतिक पार्टियों में नए-नए बदलाव देखने को भी मिल रहे हैं। कोई पार्टी छोड़ रहा है तो कोई अपने दल को छोड़ कर दूसरे दल से जुड़ रहा है। इसी बीच चुनाव से पहले भाजपा ने कांग्रेस को जोरदार झटका दिया है।