delhi assembly election 2020

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को पार्टी का घोषणा पत्र जारी करेंगे। घोषणापत्र में महिला सुरक्षा और वायु गुणवत्ता पर नियंत्रण के साथ-साथ अन्य मुद्दे शामिल होंगे। एक आप नेता ने बताया कि घोषणापत्र में आम आदमी के मुद्दों पर फोकस किया जाएगा।

कपिल मिश्रा ने मंगलवार सुबह ट्वीट के जरिए अरविंद केजरीवाल और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन औवेसी पर निशाना साधा।

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कड़कड़डूमा में चुनावी रैली को संबोधित किया। रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी विपक्ष पर जमकर बरसे। साथ ही उन्होंने शाहीन बाग का मुद्दा उठाया।

दिल्ली में ऑटो रिक्शा चालकों की मानें तो वो केजरीवाल सरकार से काफी खफा हैं। उनका मानना है कि दिल्ली में महिलाओं के लिए बसों का सफर फ्री करना ऑटो चालकों के लिए नुकसानदायक है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां इसकी तैयारियों में लग गए हैं। इसके साथ-साथ बयानों का दौर भी जारी है। दरअसल केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को रिठाला और जनकपुरी विधानसभा क्षेत्रों में दो चुनावी रैलियों को संबोधित किया।

शाहीन बाग में प्रदर्शन की वजह से स्कूली बच्चों, नौकरीपेशा लोगों और स्थानीय लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। इन सबके बीच दिल्ली विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा के ट्वीट पर विवाद थमता नहीं दिख रहा है। राजनीतिक पार्टियों द्वारा निंदा के बाद अब चुनाव आयोग ने भी ऐक्शन लिया है। बता दें, कपिल मिश्रा को शुक्रवार को नोटिस भेजा गया।

आम आदमी पार्टी आम लोगों की बात करती है लेकिन उसके उम्मीदवार का चयन कुछ दूसरी ही कहानी बयां करता है। आम आदमी पार्टी के पास करोड़पति उम्मीदवारों की फेहरिस्त है। मगर इस सूची में सबसे चौंकाने वाला नाम धर्मपाल लाकरा का है। 61 साल के लाकरा आम आदमी पार्टी के मुंडका से उम्मीदवार हैं।

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख जैसे-जैसे करीब आ रही हैं। वैसे-वैसे सभी पार्टियां अपने-अपने वोट जमा करने में जुटे हुए हैं। प्रचार प्रसार का दौर भी जोर शोर से शुरू हो चुका है। वहीं अब इसी बीच बीजेपी के मॉडल टाउन से उम्मीदवार कपिल मिश्रा ने एक विवादित ट्वीट किया है।

हालाकि स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी करते ही अब कांग्रेस विवादों में फंस गई है। दरअसल सिख दंगो को लेकर आरोप झेल रहे है कमलनाथ को कांग्रेस की स्टार प्रचारक लिस्ट में शामिल होने के बाद विवाद खड़ा हो गया है।