Delhi Election.

AAP 23 फरवरी से 23 मार्च तक पार्टी देश के 20 राज्यों में राष्ट्र निर्माण अभियान चलाकर लोगों को पार्टी से जोड़ने की कोशिश करेगी। पार्टी ने सभी राज्यों के लिए संयोजक नियुक्त किए हैं।

राजनीतिक विश्लेषक रतनमणि लाल कहते हैं कि केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में बहुत चालाकी से कैंपेनिंग की। वह वाम या दक्षिण की राजनीति की जगह मध्यमार्गी बनने की कोशिश करते रहे।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 'गोली मारो' और 'भारत-पाक मैच' जैसे बयानों ने भाजपा नेताओं को बचना चाहिए था।

दिल्ली में पार्टी की बुरी हार पर प्रतिक्रिया देते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने सलाह दी है कि पार्टी खुद को निर्ममता से पुनर्जीवित करे अन्यथा कांग्रेस पार्टी अप्रासंगिक होने की संभावना के लिए तैयार रहे।

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव जीतते ही मोदी विरोधी खेमे को बड़ा झटका दिया है। केजरीवाल ने अपने शपथग्रहण में किसी भी मोदी विरोधी नेता को नही बुलाया है।

इस बार केजरीवाल 16 फरवरी को तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पिछली बार की तरह इस बार भी दिल्ली के रामलीला ग्राउंड में ही शपथ ग्रहण समारोह होगा, जहां केजरीवाल के साथ-साथ उनके मंत्री भी शपथ लेंगे।

गौरतलब है कि विश्वासनगर विधानसभा सीट से भाजपा के ओम प्रकाश शर्मा ने 65830 वोट हासिल कर जीत हासिल की है। उनके खिलाफ आम आदमी पार्टी ने दीपक सिंगला को उतारा था, जिन्हें 49373 वोट मिले। वहीं कांग्रेस के गुरचरण सिंह को यहां से महज 7881 वोट मिले हैं। 

अरविंद केजरीवाल की नई सरकार में सारे मंत्री रिपीट किए जाएंगे। पहले उम्मीद जताई जा रही थी कि मंत्रिमंडल में बदलाव भी हो सकता है पर अरविंद केजरीवाल का मानना है कि इसी सरकार के काम पर हम दोबारा जीत कर आए हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों में आम आदमी पार्टी को 62 और भारतीय जनता पार्टी को 8 सीटें मिली हैं। वहीं पिछले विधानसभा चुनाव में आप को 67 सीट और भाजपा को 3 सीटें मिली थीं।

अरविंद केजरीवाल की जन्म तिथि का विवरण गूगल से लिया हैं इसलिए मुझे ठीक से ज्ञात नहीं की यह जन्म तारिख कितनी हद तक ठीक है लेकिन फिर भी हम इसके आधार पर कुंडली का फलकथन करेंगे।