Delhi University

यूजीसी ने देशभर के विश्वविद्यालयों को अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 30 सितंबर तक आयोजित करवाने का निर्देश दिया था जिसका 31 छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर विरोध किया है। छात्रों की दलील है कि कोरोना संकट काल में हर जगह हर छात्र के लिए परीक्षाओं में शामिल हो पाना संभव नहीं है।

वर्तमान में साइबर क्राइम से युवाओं की बड़ी संख्या प्रभावित हो रही है, ऐसे में मिशन साहसी के माध्यम से इस विषय पर समाधान केन्द्रित दृष्टिकोण पर साइबर दुनिया से जुड़े विशेषज्ञ संबोधित करेंगे।

दिल्ली यूनिवर्सिटी ने हाईकोर्ट के कहने पर परीक्षाओं की तारीख बदल दी है। अब अंतिम वर्ष की परीक्षाओं के 10 अगस्त से 30 अगस्त से शुरू होने की संभावना है।

यूजीसी ने केंद्रीय विश्वविद्यालयों में सेमेस्टर और टर्मिनल परीक्षा लेने हेतु 30 सितंबर की समय सीमा तय की है। वहीं दिल्ली सरकार ने अपने सभी विश्वविद्यालयों में टर्मिनल एवं सेमेस्टर परीक्षाएं रद्द कर दी हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिल्ली विश्वविद्यालय और देश के अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालयों के अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द करने का आग्रह किया।

वर्चुअल समिट में छात्रों की वर्तमान परिस्थिति में भूमिका, साहित्य, खेल, दिव्यांगों के सामने वर्तमान समय की चुनौतियां तथा आगे का रास्ता, महिलाओं की वैश्विक बदलाव में बड़ी भूमिका, अर्थव्यवस्था आदि विषयों पर छात्रों को वक्ता संबोधित करेंगे।

आज अभाविप विधि संकाय इकाई के द्वारा आयोजित श्रद्धांजलि सभा में छात्रों ने शहीद हेड कांस्टेबल रतन लाल, जो की सीएए विरोधी हिंसक दंगों में कानून व्यवस्था को बनाये रखने के अपने कर्तव्य का पालन करते हुए शहीद हो गए को श्रद्धांजलि अर्पित की।

अभाविप दिल्ली के 55 वें प्रान्त अधिवेशन का आयोजन शंकरलाल हॉल, दिल्ली विश्वविद्यालय में आरंभ हुआ। राज्यसभा सांसद डॉ. राकेश सिन्हा ने दीप प्रज्ज्वलन कर दो दिवसीय अधिवेशन का उद्घाटन किया।

दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में 5 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। दिल्ली पुलिस ने जेएनयू हिंसा में शामिल नकाबपोश लड़की की पहचान कर ली है।