devendra fadanvis

फडणवीस ने एक बार फिर सत्ता में वापस आने की बात कही है। फडणवीस ने रविवार को कहा कि कब वापस आऊंगा यह नहीं पता, लेकिन लौटकर जरूर आऊंगा।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष का नेता चुना गया है। रविवार को औपचारिक तौर पर इस बात का ऐलान किया गया।

उन्होंने कहा कि बदलते सियासी माहौल में ताकत को पहचानने की जरूरत है, 8-10 दिन में बड़ा फैसला लूंगी। बता दें, फडणवीस सरकार में पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे अपने गढ़ परली से चुनाव हार गई थीं।

सूत्रों का कहना है कि इन दोनों मांगों को मानने के लिए शरद पवार ने भाजपा और मोदी-शाह को संदेश भेजकर विचार के लिए वक्त दिया था। यही वजह है कि नतीजे आने के बाद पवार ने भाजपा नेतृत्व के खिलाफ ऐसा कुछ तीखा नहीं बोला था

महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन वाली सरकार का शपथ ग्रहण 1 दिसंबर को होगा और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को विधायक दल का नेता चुना गया।

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भाजपा के विधायक कालिदास कोलंबर को राज्य का प्रोटेम स्पीकर नियुक्त कर दिया है। राज्यपाल ने मंगलवार को कोलंबर को शपथ दिलाई। 

चौंकिएगा नही। ये सच है। देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद अब उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे। उपमुख्यमंत्री की रेस में दो नाम हैं। पहला नाम जयंत पाटिल का है और दूसरा बालासाहेब का है।

पहले जहां डिप्टी सीएम पद से अजित पवार ने इस्तीफा दिया था। तो अब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी अपने पास बहुमत नहीं होने का दावा करते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

महाराष्ट्र मामले पर हो रही इस बैठक में पीएम मोदी, अमित शाह के अलावा बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद हैं। बता दें कि अब भारतीय जनता पार्टी के सामने बहुमत साबित करने की चुनौती है।

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अजित पवार ने उप-मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वहीं माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी दोपहर 3.30 बजे इस्तीफा दे सकते हैं।