Earthquake

भारत जिस वक्त 52वां गणतंत्र दिवस मना रहा था, सुबह पौने नौ बजे गुजरात का भुज भूकंप से हिल उठा। धरती की कंपकंपी सिर्फ दो मिनट की ही थी, लेकिन इसी दो मिनट में सब खत्म।

भूकंप का सेंटर दिल्ली के पास गाजियाबाद बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इससे पहले 12 अप्रैल को भी दिल्ली में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

इससे पहले रविवार शाम में भी दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। भूकंप के झटके दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा और फरीदाबाद में एक साथ महसूस हुए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भूकंप का केंद्र कहीं और नहीं बल्कि दिल्ली में ही है और मात्र 6.5 किलोमीटर नीचे है। IMD के मुताबिक पूर्वी दिल्ली में भूकंप का केंद्र था। 

रूस से एक और बड़ी खबर सामने आ रही है, जहां आज भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। समाचार एजेंसी एएफपी ने अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के हवाले से जानकारी दी है कि बुधवार को रूस के कुरील द्वीप समूह में 7.5 तीव्रता का भूकंप आया। यूएसजीएस ने कहा कि भूकंप का केंद्र 59 किलोमीटर (37 मील) की गहराई पाया गया है।

तिब्बत में शुक्रवार को रिक्टर पैमाने पर 5.9 की तीव्रता का भूकंप आया। अधिकारियों ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि इस आपदा में किसी तरह के जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

ईरान के खुरासान-ए-रिजवी प्रांत में अफगानिस्तान की सीमा के निकट बुधवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 5.8 दर्ज की गई।

अफ्रीका के दक्षिण पश्चिमी क्षेत्र में रविवार शाम 6.24 बजे (स्थानीय समय अनुसार) 5.3 तीव्रता का भूकंप आया। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, इसका केंद्र 52.8544 डिग्री दक्षिणी अक्षांश और 11.3526 डिग्री पूर्वी देशांतर पर सतह से 10 किलोमीटर भीतर था।

जिंग्सी के आपात विभाग ने घरों में दरारें पड़ने की जानकारी दी। कुछ इलाकों में चट्टानों के भी गिरने की खबर है। काउंटी अधिकारियों ने स्थिति का जायजा लेने के लिए बचाव दल भेजा है।

दक्षिणी फिलीपींस के मिंडानाओ द्वीप पर आए 6.4 तीव्रता के भूकंप में करीब पांच लोगों की मौत हो गई, वहीं 60 अन्य लोग घायल हो गए। यह जानकारी स्थानीय मीडिया ने गुरुवार को दी।