Election Commission

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 (Coronavirus) चुनाव स्थगित करने का आधार नहीं हो सकता, और उसने बिहार (Bihar) के कोरोना मुक्त होने तक विधानसभा चुनाव स्थगित कराने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया।

बता दें कि चुनाव आयोग(Election Commission) उत्तर प्रदेश से उपचुनाव के लिए पहले ही अधिसूचना जारी कर चुका है और विधानसभा में बहुमत वाली भाजपा(BJP) की जीत लगभग तय है।

देश में कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। बिहार में कोरोना के मामलों में रोज बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है ऐसे में चुनाव आयोग ने संकेत दिए है कि बिहार में तय समय पर ही विधानसभा चुनाव होंगे।

चुनाव को लेकर केन्द्रीय चुनाव आयोग ने बिहार के सभी राजनीतिक पार्टियों से सुझाव मांगे है। ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बिहार में चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों की राय बेहद महत्वपूर्ण हो गई है।

चुनाव आयोग ने तर्क देते हुए कहा है कि इन नियमों को लागू करने से पहले आयोग जमीनी हालात से लगातार रूबरू हो रहा है। कोरोना वायरस से उपजे इस अप्रत्याशित माहौल में चुनाव तैयारियों की लगातार आयोग निगरानी कर रहा है।

देश में इस समय कोरोना का कहर जारी है। ऐसे में इस संकट के बीच चुनाव आयोग ने एक बड़ा फैसला किया है। चुनाव आयोग ने यह तय किया है कि अब चुनाव में 65 वर्ष से ऊपर के लोग और कोविड पॉजिटिव लोग पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

देशभर के 8 राज्यों में राज्यसभा की 19 सीटों के लिए आज मतदान कराया गया। अब धीरे-धीरे इसके परिणाम भी सामने आने लगे हैं। शाम 5 बजे से मतगणना शुरू की गई है।

चुनाव आयोग ने विभिन्न राज्यों की 18 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की तारीख का ऐलान कर दिया है। चुनाव आयोग ने इसके लिए 19 जून का दिन निर्धारित किया है।

चुनाव आयोग ने कहा है कि चुनाव के दौरान कोविड-19 के खिलाफ सुरक्षा के लिए आवश्यक दिशा-निर्देशों को सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इस संबंध में जल्द ही अधिसूचना जारी कर दी जाएगी और 21 दिनों के अंदर चुनाव को संपन्न करा लिया जाएगा। सारी प्रक्रिया 27 मई तक पूरी हो जाएगी।

राज्यसभा में बड़ा बदलाव होने जा रहा है। अच्छी खासी संख्या में नए सदस्य चुने जाएंगे। इसी साल मार्च में 17 राज्यों के 55 सदस्यों का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है।