Enforcement Directorate

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को मनी लांड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा कर्नाटक कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की जमानत को चुनौती देने के बाद उनके खिलाफ नोटिस जारी किया है। ये नोटिस उन्हें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की अपील पर जारी किया गया है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बुधवार सुबह यहां तिहाड़ जेल में पार्टी नेता डीके शिवकुमार से मुलाकात की। सोनिया के साथ पार्टी के कर्नाटक इकाई के प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल भी थे।

वित्त मंत्री के अपने कार्यकाल के दौरान आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) से मंजूरी देने में कथित अनियमितता में संलिप्तता को लेकर चिदंबरम को 21 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया था, तबसे वे न्यायिक हिरासत में हैं।

दोनों अपराधियों की पहचान मुंबई निवासी हारून यूसुफ और रंजीत सिंह बिंद्रा के रूप में हुई। सूत्रों ने कहा कि बिंद्रा ने जहां भूमि सौदे में बिचौलिए का काम किया, वहीं यूसुफ ने धन स्थानांतरण किया।

शरद पवार ने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां उनके साथ हैं और बैंक घोटाले से उनका कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, मैं नहीं चाहता कि कानून व्यवस्था खराब हो, इसलिए ईडी दफ्तर नहीं जाने का फैसला किया है।

रतुल पुरी के वकील ने कथित ईमेल आईडी की जानकारी से इनकार जारी रखा। उन्होंने पुरी की मां के लिए अदालत परिसर में मुलाकात की अनुमति मांगी। सीबीआई न्यायाधीश अरविंद कुमार ने आखिरकार ईडी को तीन दिनों की हिरासत की इजाजत दे दी।

शिवकुमार ने इससे पहले इस साल जनवरी और फरवरी में ईडी द्वारा जारी किए गए सम्मन को नजरअंदाज कर दिया था। लेकिन पिछले सप्ताह ही वित्तीय जांच एजेंसी की ओर से होने वाली गिरफ्तारी से अंतरिम राहत पाने के लिए उनकी याचिका को कर्नाटक हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कुडोस केमी लि. द्वारा बैंक कर्ज धोखाधड़ी से जुड़े धनशोधन के एक मामले में...

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कर्नाटक के कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता डी. के. शिवकुमार को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए शुक्रवार को समन भेजा है।

सीबीआई पी चिदंबरम के द्वारा दिये गये जवाबों से पूरी तरह संतुष्ट नहीं है साथ ही जांच के दौरान जो नये तथ्य सामने आये है सीबीआई उनकी भी कड़ी से कड़ी जोड़ना चाहती है।