Fake News

Fact Check: एक खबर सोशल मीडिया (Social Media) पर इन दिनों काफी वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि गृह मंत्रालय ने 31 दिसंबर तक स्कूल व कॉलेज बंद करने का फैसला लिया है।

I&B Ministry: प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने OTT प्लेफॉर्म्स (OTT Platforms)के लिए भी कोई कंटेंट नियामक संस्था न होने की बात को लेकर निराश व्यक्त करते हुए कहा कि इस पर कई अच्छे और कई बहुत बुरे कंटेंट मौजूद हैं ऐसे में इसके लिए भी नियामक संस्था को बनाए जाने पर विचार किया जा रहा है।

Rahul Gandhi: राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने इस फेक न्यूज (Fake News) की क्लिप को शेयर करते हुए लिखा कि देश के जवान भयंकर सर्दी में साधारण टेंट में गुज़ारा करते हुए भी चीन के आक्रमण का डटकर मुक़ाबला करते हैं। जबकि देश के PM 8400 करोड़ के हवाई जहाज़ में घूमते हैं और चीन का नाम तक लेने से डरते हैं। किसे मिले अच्छे दिन?

India-China dispute: भारत (India) और चीन (China) के बीच चल रहे सीमा विवाद के बीच सोशल मीडिया (Social Media) पर फर्जी खबरों की बाढ़ सी आ गई है। ये फर्जी खबरें खूब वायरल भी होती रहती हैं। ऐसे ही एक अखबार की खबर को फैक्ट चेक के जरिए फर्जी करार दिया गया है।

Mohan Bhagwat: एक मासिक पत्रिका से बातचीत में संघ प्रमुख मोहन भागवत(Mohan Bhagwat) मुसलमानों को भारत(India) में रहने को लेकर साफ किया कि वास्तव में हमारा ही एकमात्र देश है, जहाँ पर सब के सब लोग बहुत समय से एक साथ रहते आए हैं।

पाकिस्तान(Pakistan) की इस नापाक हरकत को लेकर यूएन(UN) में भारत(India) के परमानेंट मिशन के ट्विटर हैंडल पर कहा गया- भारत की छवि खराब करने के लिए प्रोपेगंडा चला जा रहा है।

तारिक फतेह ने सीएए और शाहीन बाग के मुद्दे पर खुलकर बातचीत की। सीएए विरोध को लेकर मौलवियों पर तल्ख तेवर दिखाते हुए उन्होंने कहा कि इनकी दुकाने बंद हो गई हैं जिसकी वजह से ये नाराज हैं।

अयोध्या पुलिस के मुताबिक कई सोशल मीडिया सेल जनपद अयोध्या में कई व्हाट्सएप ग्रुपों में इस प्रकार के भ्रामक मैसेज का प्रसार किया जा रहे हैं जिसका अयोध्या पुलिस पूर्णतया खंडन करती है।

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि मीडिया फेक न्यूज को रोकने के लिए रचनात्मक समाधान तैयार करे। नायडू ने कहा, "हम एक ऐसे युग में रह रहे हैं, जब सोशल मीडिया तेजी से बढ़ रहा है, जिसका बाइ-प्रोडक्ट फेक न्यूज है। फेक न्यूज की समस्या मीडिया की विश्वसनीयता को अब नष्ट कर रही है।"

आज देश के पश्चिम तथा उत्तरी भाग में ही नहीं बल्कि पूर्वी हिस्से में भी भगवा लहरा रहा है। इस जीत के शिल्पकारों में एक नाम अरुण जेटली का भी है।