Farm laws

Farmers Protest: राकेश टिकैत ने कहा कि हमारा अगला आह्वान संसद मार्च के लिए होगा। अगर कृषि कानून वापस नहीं लिए जाएंगे तो इस बार 4 लाख ट्रैक्टर नहीं बल्कि 40 लाख ट्रैक्टर वहां जाएंगे। ये बयान उन्होंने मंगलवार को राजस्थान के सीकर में एक किसान रैली को संबोधित करते हुए दिया।

Toolkit Case: इससे पहले टूलकिट मामले में पुलिस की गिरफ्त में आई दिशा रवि को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा था। बता दें कि पुलिस ने दिशा रवि को लेकर पांच दिन की रिमांड अदालत से मांगी थी लेकिन कोर्ट ने पुलिस को एक दिन की रिमांड दी थी।

Toolkit Case: किसान आंदोलन(Farmers Protest) के समर्थन में पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग(Greta Thunberg) द्वारा साझा किए गए ‘‘टूलकिट गूगल डॉक्यूमेंट’’ की दिल्ली पुलिस जांच कर रही है।

Farmers Protest: केजरीवाल(Arvind Kejriwal) ने कहा कि, "ये तीन कृषि क़ानून किसानों के लिए डेथ वारंट है। इन क़ानूनों से किसानों की किसानी कुछ पूंजीपतियों के हाथों में चली जाएगी

Farmer Protest: दरअसल आंदोलन को अक्टूबर तक ले जाने को लेकर किसान नेताओं में आपसी सहमति नहीं बन पा रही है। इसी के चलते किसान नेताओं में आपसी मतभेद नजर आ रहे हैं।

Rail Roko Abhiyan: प्रयागराज(Prayagraj) में, किसानों को रेलवे स्टेशन में प्रवेश करने से रोका गया। उन्होंने बाहर सड़क पर खड़े होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने बाद में एक जुलूस निकाला गया, जिसमें मांग की गई कि खेत कानूनों को निरस्त किया जाए।

Toolkit Case: टूलकिट मामले में दिशा रवि की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे एक के बाद एक नए नाम सामने आने लगे हैं। इस बीच टूलकिट कांड में आरोपी दिशा रवि ने गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) का रुख किया है।

Greta Thunberg Toolkit Case: किसान आंदोलन से जुड़े टूलकिट मामले में आरोपी निकिता जैकब (Nikita Jacob) को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। बुधवार को निकिता जैकब को बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court )से राहत मिल गई है।

Toolkit Case: बता दें कि अनिता लाल पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन के संस्थापक मो धालीवाल (MO Dhaliwal) की करीबी साथी मानी जाती है। वह खालिस्तानी समर्थक पोएटिक जस्टिस संस्था की सह-संस्थापक है। इसके अलावा वो इस संस्था की कार्यकारी निदेशक भी है। 

Toolkit Case: दरअसल कन्हैया कुमार ने पर्यावरण कार्यकर्ता के समर्थन में ट्वीट करते हुए लिखा, दिशा रवि ने किसानों का समर्थन करके गलती कर दी। दंगाइयों का समर्थन करती तो शायद मंत्री, मुख्यमंत्री या क्या पता प्रधानमंत्री ही बन जाती।