Finance Minister Nirmala Sitharaman

Nirmala Sitharaman Press Conference Updates: वित्तमंत्री ने कहा कि जीएसटी कलेक्शन जैसे कई आंकड़े बेहतर आये हैं और रिजर्व बैंक ने यह संकेत दिया है कि तीसरी तिमाही में ही इकोनॉमी पॉजिटिव जीडीपी ग्रोथ हासिल कर सकती है।

FM Nirmala Sitharaman : त्योहारी सीजन से पहले मोदी सरकार (Modi Govt) ने सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने सोमवा को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि महामारी से अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है।

GST Council : कोरोना (Coronavirus) संक्रमण की चैन तोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने मार्च में ही लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था, जिसके चलते अर्थव्यवस्था पूरी तरह से पटरी से उतर गई है। इस दौरान केंद्र सरकार भी राज्यों को जीएसटी का भुगतान नहीं कर पाई।

Finance Minister Nirmala Sitharaman : कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन लगाया था। जिसके चलते देश की अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान हुआ है। इतना ही नहीं देशव्यापी लॉकडाउन के कारण अप्रैल-जून तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 23.9 फीसदी की गिरावट दर्ज की है।

सरकार की तरफ से दूसरे राहत पैकेज (Relief package) की घोषणा की तैयारी है और सूत्रों की मानें तो इस बार सरकार का फोकस मध्यम वर्ग पर रहेगा। ताकि इस वर्ग को भी राहत दी जा सके।

मोदी सरकार में मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने बताया कि किस तरह मोदी सरकार का 2025 तक भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का सपना पूरा होगा।

ज्ञात हो कि केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने शनिवार को वर्ष 2019 के लिए यह रैंकिग जारी की, जिसमें उत्तर प्रदेश को एक बड़ी सफलता मिली है।

भारतीय रेल महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के लिए पहले किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन को शुक्रवार को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेगी।

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रवासी कामगारों के लिए 125 दिनों तक के लिए मेगा रोजगार योजना संचालित की जाएगी।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना काल में विलंब से जीएसटी रिटर्न दखिल करने वाले करदाताओं को बड़ी राहत देते हुए शुक्रवार को विलंब से कर दाखिल करने पर लगने वाले ब्याज की दर 18 फीसदी से घटाकर नौ फीसदी करने का ऐलान किया।