Hemant Soren

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शनिवार को यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके आधिकारिक आवास पर मुलाकात की और राज्य से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की।

झारखंड के 11 वें मुख्यमंत्री के तौर पर हेमंत सोरेन ने शपथ ग्रहण किया। हेमंत सोरेन की पार्टी झामुमो कांग्रेस और राजद के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन कर मैदान में उतरी थी।

झारखंड के मुख्यमंत्री के तौर पर हेमंत सोरेन आज दोपहर 2 बजे शपथ लेंगे। बीते चुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और आरजेडी के गठबंधन को बहुमत मिला था।

झारखंड के मुख्यमंत्री पद की रविवार को शपथ लेने जा रहे झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के प्रमुख हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में भारतरत्न से सम्मानित पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी शामिल होंगे।

हेमंत सोरेन सरकार के लिए यह एक सुनहरी शुरुआत है। शपथ लेने के साथ ही सरकार को बड़ी मात्रा में सोना मिलेगा।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगी। सूत्रों के मुताबिक, 29 दिसंबर को रांची में हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे, जहां बनर्जी भी उपस्थित होंगी।

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ झारखंड में एफआईआर दर्ज हो गई है। उन्हें झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन की जाति पर टिप्पणी करना भारी पड़ गया।

झारखंड के भावी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे और 29 दिसंबर के शपथ ग्रहण समारोह के लिए उन्हें आमंत्रित करेंगे। हेमंत सोरेन कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से मिलकर राज्य में गठबंधन सरकार के गठन पर चर्चा भी करने वाले हैं।

झारखंड में सोरेन युग शुरू हो गया है। अब जेएमएम और कांग्रेस के गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। आज रांची में जेएमएम विधायक दल में हेमंत सोरेन को नेता चुना जाएगा।

झारखंड में भाजपा की हार और गठबंधन की जीत के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) नेता हेमंत सोरेन के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया है। मुख्यमंत्री बनने के बाद भी हेमंत सोरेन के सामने चुनौतियां कम नहीं होंगी।