Hinduism

मां भगवती सिद्धीदात्री को हर रोज भगवती का ध्यान करते हुए पीले पुष्प अर्पित करें। मोती चूर के लड्डूओं का भोग लगाएं ओर श्री विग्रह के सामने घी का दीपक जलाएं।

यदि उक्त विधि को करना किसी के लिए संभव न हो, तब वह जल को पात्र में काले तिल डालकर दक्षिण दिशा की ओर मुँह करके तर्पण कर सकता है।

आंध्र प्रदेश सरकार ने आदेश दिया है कि तिरुमाला मंदिर में काम करने वाले जिन कर्मचारियों ने हिन्दू धर्म को छोड़कर अन्य धर्म अपनाया है, उन्हें अपने पद को छोड़ना होगा।

अरविंदर सिंह शास्त्री ने बताया कि महाकाली मां की उपासना करने से उनकी कृपा भक्तों पर सहज हो जाती है। मां कृपालु हैं इनकी शरण में आने वाला कोई खाली हाथ नहीं जाता। महाकाली जयंती के अवसर पर कहीं कहीं सुन्दर काण्ड के पाठ का भी आयोजन किया जाता है।

किसी दूसरे व्यक्ति के घर या जमीन पर श्राद्ध कर्म नहीं करना चाहिए। हालांकि जंगल, पहाड़, मंदिर या पुण्यतीर्थ किसी दूसरे की जमीन के तौर पर नहीं देखे जाते हैं क्योंकि इन जगहों पर किसी का अधिकार नहीं होता है। इसलिए यहां श्राद्ध किया जा सकता है।

पीपल के पत्तों का प्रयोग कब्ज या गैस की समस्या में दवा के तौर पर किया जाता है। इसे पित्तज नाशक भी माना जाता है, इसलिए पेट की समस्याओं में इसका प्रयोग लाभप्रद होता है।

वे मुस्लिम महिलाओं के बुर्के की भी आलोचना भी कर चुके हैं। इस बयान के कारण ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में उन पर हमला भी हो चुका है। इमाम ताहिदी वैश्विक मंचों पर शरिया कानून अपनाने वाले मुस्लिम देशों की खुलकर आलोचना करते आए हैं।

नई दिल्ली। मुंबई से एक बार फिर काफी हैरान कर देने वाली खबर है, क्योंकि फिर एक युवा कट्टरपंथ का...

नई दिल्ली। आरएसएस की लेक्चर सीरीज का आखिरी दिन है। जिसमें पूछे गए सभी प्रश्नों का जवाब आरएसएस के प्रमुख...

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भाजपा पर ‘हिंदू पाकिस्तान’ बनाने का आरोप लगाने के बाद किया फिर बड़ा...