Home minister

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को यहां कहा कि जनता के हर सुख-दुख में साथ रहने वाली दिल्ली पुलिस को कभी दुखी नहीं रहने दिया जाएगा, और केंद्र सरकार ने करीब 225 करोड़ रुपये का बजट पास करके दिल्ली पुलिस कर्मियों के आशियाने के इंतजाम को अंतिम रूप दे दिया है।

केंद्र सरकार ने नागरिकता कानून के विरोध में दिल्ली में हुए प्रदर्शनों का कच्चा चिट्ठा सामने रखा है। इसके मुताबिक नागरिकता कानून के खिलाफ दिल्ली में अब तक कुल 66 विरोध प्रदर्शन हुए। इस मामले में कुल 11 केस दर्ज किए गए हैं।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार को ISIS के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया। तीनों आतंकियों की गिरफ्तारी एनकाउंटर के बाद वजीराबाद से की हुई।

राम मंदिर समेत दूसरे तमाम मुद्दों पर घेरते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस न विकास कर सकती है, न देश को सुरक्षित कर सकती है और न देश की जनता की जन भावनाओं का सम्मान कर सकती है।

इस बिल के विरोध में ओवैसी ने कहा कि, सरकार आखिर चीन के बारे में क्यों नहीं बोलती? इस बिल से देश को खतरा है। इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने इस बिल के विरोध में अपनी बात रखी और कहा कि मुल्क को ऐसे कानून से बचा लीजिए।

प्रतिबंधित शस्त्र और प्रतिबंधित गोला बारूद को अपने कब्जे में रखने की अवस्था में 5 से 7 साल की सजा की जगह 7 से 14 साल के कारावास का प्रावधान रखा गया है।

लोकसभा में बोलते हुए अमित शाह ने दो बड़े उदाहरण भी दिए। उन्होंने बताया कि लालकृष्ण आडवाणी और मनमोहन सिंह भी शरणार्थी के तौर पर बाहर से आये थे और प्रधानमंत्री व बड़े बड़े पदों पर बैठे। अमित शाह ने बताया कि मणिपुर को इनर लाइन परमिट के दायरे में लाया जाएगा।

इस साल डीजीपी/आईजी प्रेस कॉन्फ्रेंस पुणे के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च, पुणे में हो रही है। उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए शाह ने इसे पुलिस अधिकारियों का वैचारिक कुंभ बताया।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सबसे पहले इस बिल को लेकर के जो भ्रांतियां हैं वह मैं दूर करना चाहता हूं दो सदस्यों ने जो कहा कि इस बिल को दो परिवारों को ध्यान में रखकर के लाया गया यह हकीकत नहीं है।

राहुल बजाज ने कहा, "आप अच्छा काम कर रहे हैं उसके बाद भी हम खुले रूप से आपकी आलोचना करें...विश्वास नहीं है कि आप इसकी सराहना करेंगे...हो सकता है कि मैं गलत होऊं।"