Home Minister Amit Shah

कोरोना का संकट लगातार तेजी पकड़ रहा है जिसको देखते हुए केंद्र सरकार लगातार पांचवी बार यानी लॉकडाउन 5.0 लगाने पर विचार कर रही है।

गृहमंत्री अमित शाह ने सबसे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से बात की। मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार शाह ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया है कि केंद्र राज्य की मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है और एनडीआरएफ की टीम को पहले ही तैनात किया जा चुका है।

गृह मंत्रालय के निर्देश के बाद राज्य हरकत में आए हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि राज्य सरकार 115 और ट्रेनों की व्यवस्था करने का प्रयास करेगी। राज्य सरकार ट्रेन का किराया देगी। इसके साथ ही ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य में 31 मई तक कोरोना के चलते लॉकडाउन को बढ़ाया गया है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर नर्सों की भूमिका की सराहना की और कोविड-19 महामारी के खिलाफ आगे आकर लड़ने के लिए उन्हें गुमनाम नायक बताया।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत इस संकट से अपने आपको बचाने में बहुत हद तक सफल हुआ है। राज्यों ने जिम्मेदारी निभाई है, लेकिन लोगों के बीच दो गज की दूरी कम हुई तो संकट बढ़ेगा। लॉकडाउन लागू करने में सभी की भूमिका महत्वपूर्ण रही।

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लिखे पत्र में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि दूसरे राज्य में मौजूद बंगाल के मजदूर अपने राज्य बंगाल आना चाहते हैं ,लेकिन राज्य सरकार का रवैया ठीक नहीं है। लोगों को अपने यहां लाने में बंगाल सरकार तत्परता नहीं दिखा रही और राज्य में ट्रेनों को प्रवेश करने की मंजूरी नहीं दे रही है। शाह ने कहा, "यह बंगाल के प्रवासी मजदूरों के साथ अन्याय है, इससे आगे उनके लिए और मुश्किल होगी।"

अमित शाह ने पीएम के दिए जान भी और जहान भी मंत्र पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का कडाई से पालन हो। हमने सावधानीपूर्वक ट्रेड और इंडस्ट्री को कुछ छूट दी है। अमित शाह और पीएम के बोलने के बीच डीजी, आईसीएमआर ने एक प्रजेंटेशन दिया।

उन्होंने कहा, ग्रामीण भारत हमारी संस्कृति व समृद्धता की नींव है और इसे शक्ति देने का काम पंचायती राज व्यवस्था ने किया है। भारत का विकास ग्रामीण भारत के विकास में निहित है। इसीलिए भारतीय संविधान ने ग्राम पंचायतों को अधिक से अधिक सशक्त कर उन्हें 'स्वशासन के संस्थानों' के रूप में स्थापित किया।

दरअसल, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लगे स्वास्थ्यकर्मियों पर देश के विभिन्न हिस्सों में हो रहीं हमले की घटनाओं को देखते हुए डॉक्टरों में आक्रोश रहा। जिस पर डॉक्टरों ने बुधवार की रात सांकेतिक प्रदर्शन और गुरुवार को काला दिवस मनाने का ऐलान किया था।

रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया RBI ने भारत की अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिए जो कदम उठाए हैं वे प्रधानमंत्री मोदी के विजन को प्रबल करते हैं।