income tax

जिन लोगों पर छापेमारी की गई, उनमें कमलनाथ के पूर्व ओएसडी प्रवीण कक्कड़, पूर्व सलाहकार राजेंद्र मिगलानी और उनके रिश्तेदार की कंपनी मोजर बेयर तथा उनके भांजे रातुल पुरी की कंपनी से जुड़े अधिकारी शामिल हैं। 

लोकसभा चुनाव को निष्पक्षता से कराने को लेकर चुनाव आयोग काफी सतर्क नजर आ रहा है। 7 अप्रैल को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग की रेड के बाद दूसर नेता भी सहमे हुए हैं।

सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग दिल्ली को जानकारी मिली थी कि लोकसभा चुनाव में पैसे का खेल किया जा रहा है और हवाला की राशि इधर से उधर की जा रही है।

वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए नया आयकर रिटर्न फॉर्म इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने जारी कर दिया है। इस बार आपको आईटीआर में अनलिस्टेड शेयर्स की जानकारी देना जरूरी हो गया है।

कर चोरी करना अब असंभव नहीं तो मुश्किल जरूर हो जाएगा, क्योंकि आयकर (आईटी) विभाग कर चोरी पर अंकुश लगाने के लिए एक अप्रैल से बिग डाटा एनालिटिक्स का इस्तेमाल करने जा रहा है।

2007 से 2012 के बीच बसपा शासनकाल के दौरान नेतराम प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री के तौर पर तैनात थे और ताकतवर अफसरों में उनकी गिनती होती थी। बताया जाता है कि कैबिनेट मंत्रियों को भी नेतराम से मिलने के लिए मुख्यमंत्री से मिलने की तरह समय लेना पड़ता था।

दिल्ली में पिछले चार से साल से सत्तासीन  आम आदमी पार्टी के एक विधायक एमएलए नरेश बाल्यान नई मुसीबत में फंसते नजर आ रहे हैं। विधायक के पास से इनकम टैक्स विभाग ने दो करोड़ रुपये पकड़े हैं।

चुनावी साल में मोदी सरकार ने बजट में टैक्स देने वाले नौकरीपेशा और मिडिल क्लास को बड़ा तोहफा दिया है। जिन लोगों की आमदनी सालाना पांच लाख रुपये है उन्हें कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा, हालांकि इससे ऊपर की आमदनी वालों के लिए टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

नई दिल्ली। आयकर विभाग की तरफ से पूरे शहर में तीन से पांच जनवरी तक की गई छापेमारी में 11...

नई दिल्ली। 1 जनवरी 2019 से कई नियम-कानून बदल जाएंगे, जिनका सीधा असर आप पर होगा। लिहाजा आज आखिरी दिन...