Indian AirForce

चीन के साथ बढ़ते सीमा विवाद के बीच भारत जमीनी टारगेट्स को निशाना बनाने की अपनी शक्ति और मजबूत करना चाहता है।

अब देश के दुश्मनों की खैर नहीं भारतीय सेना को बहुत मजबूत बना देनेवाली राफेल विमान अब भारत को जल्द मिलने वाली है।

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच उत्तरी सिक्किम और लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पिछले एक सप्ताह में दो बार हाथापाई हो चुकी है। सूत्रों ने कहा था कि उत्तरी सिक्किम में दोनों सेनाओं के बीच झड़प के दौरान चार भारतीय जवान और चीन के आधा दर्जन सैनिक घायल हो गए थे।

कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में भारतीय वायुसेना सिर्फ भारतीयों के लिए ही नहीं बल्कि दूसरे देशों के लिए भी देवदूत बनकर सामने आई है।

राजनाथ सिंह इससे पहले भी विजयादशमी के मौके पर शस्त्र पूजन करते आए हैं। पिछले साल उन्होंने बीकानेर में जवानों के साथ शस्त्र पूजन संपन्न किया था।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आठ अक्टूबर को फ्रांस जाकर राफेल विमान में उड़ान भरेंगे। रक्षा सूत्रों ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को इंडियन कोस्ट गार्ड शिप (आईसीजीएस) 'वराह' को अपने दो दिवसीय दौरे के समापन पर चेन्नई में इंडियन कोस्ट गार्ड में शामिल किया।

सिंह यहां तटरक्षक बल के गश्ती जहाज 'वराह' को शुरू करने पहुंचे थे। सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने सोमवार को कहा था कि पाकिस्तान ने बालाकोट में अपने आतंकी शिविरों को फिर से सक्रिय कर दिया है।

भारत में तैयार किए गए लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। 19 सितंबर को रक्षा मंत्री इस लड़ाकू विमान की सवारी करेंगे जिसकी शुरुआत बेंगलुरु से होगी।

राफेल विमान भारतीय वायुसेना के भविष्य का गौरव साबित होने जा रहे हैं। ये विमान पाकिस्तान के होश उड़ा देंगे। ये किसी नेता या ब्यूरोक्रेट का बयान नही है बल्कि एयरफोर्स के एयर वाइस मार्शल का एलान है।