indian railways

कोरोनावायरस जैसी महामारी से लड़ने के लिए भारतीय रेल ने भी कदम बढ़ाया है। भारतीय रेल ने ट्रेन के डिब्बों को आइसोलेशन कोच में बदलने का फैसला लिया है। जिसमें कोरोना के संदिग्ध और मरीजों को आइसोलेशन में रखा जायेगा।

कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पं दीनदयाल उपाध्याय मंडल ने एक बड़ा कदम उठाया है। जिसके तहत स्टेशनों पर भीड़-भाड़ को कम करने और जागरूकता के उद्देश्य से छह रेलवे स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट के मूल्य में अस्थायी वृद्धि कर दी गई है।

भारतीय रेल ने होली के बाद लोगों को बड़ा झटका देते हुए बुधवार को रद्द होने वाली ट्रेनों की पूरी लिस्ट जारी कर दी है। इसकी पूरी जानकारी आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर दी गई है।

काशी महाकाल एक्सप्रेस का आधिकारिक सफर गुरुवार यानी आज से शुरू हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 फरवरी को चंदौली के पड़ाव से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था।

उत्तर प्रदेश के बाद अब उत्तराखंड में भी रेलवे स्टेशनों पर एक बदलाव होने जा रहे हैं। बता दें, भारतीय रेलवे ने उत्तरराखंड राज्य के स्टेशनों के नाम को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। रेलवे ने राज्य के सभी स्टेशनों के नाम से उर्दू वाले नाम को हटाने का निर्णय लिया है।

दिल्ली आने वाली 19 ट्रेनें आज भी लेट से चल रही है। रेलवे के मुताबिक, घने कोहरे की वजह से ये ट्रेनें लेट से आ रही हैं। ये ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट चल रही हैं।

अगर आप 10वीं या 12वीं पास हैं तो ये खबर आपके लिए है। बता दें, 10वीं, 12वीं पास युवाओं को रेलवे नौकरी का मौका दे रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक दक्षिण रेलवे में कई पदों पर भर्तियां होने जा रही हैं। ये भर्तियां 3000 हजार से ज्यादा पदों पर होने जा रही हैं।

अगर आप भी रेलवे की नौकरी पाने की इच्छा रखते हैं तो ये खबर आपके लिए है। बता दें, संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission- UPSC) के जरिए उम्मीदवारों की भर्ती की जाएगी। इच्छुक उम्मीदवारों को पहले यूपीएससी की तरह प्रारंभिक परीक्षा देनी होगी।

महाराष्ट्र के नासिक में देश का पहला ऑक्सीजन पार्लर बनाया गया है। बता दें, ये पार्लर नासिक रेल्वे स्टेशन पर बना है। इससे नासिक के लोगों को शुद्ध हवा के साथ पेड़ पौधों की जानकारी भी मिलेगी। इतना ही नहीं, इस ऑक्सीजन पार्लर से लोग पौधे खरीद कर घर भी ले जा सकते हैं।

अगर कैग के इस आंकडे़ को आसान भाषा में समझें तो  रेलवे 98 रुपये 44 पैसे लगाकर सिर्फ 100 रुपये की कमाई कर रही है। यानी कि रेलवे को सिर्फ एक रुपये 56 पैसे का मुनाफा हो रहा है जो व्यापारिक नजरिए से सबसे बुरी स्थिति है।