Iqbal Ansari

Babri Demolition Case: बाबरी विध्वंस मामले (Babri Demolition Case) में कल यानी 30 सितंबर को कोर्ट अपना फैसला सुनाएगी। ऐसे में पूरे देश को इस ऐतिहासिक फैसले का इंतज़ार है। इस बीच कोर्ट का फैसला आने से पहले रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास (Acharya Satyendra Das) और मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने बड़ा बयान दिया है।

कुछ दिन पहले खबर सामने आई थी कि मस्जिद के लिए जो जमीन मिली है उसपर जो निर्माण होगा वो बाबर के नाम से होगा। इसी को लेकर इकबाल अंसारी( Iqbal Ansari) ने साफ कर दिया है कि बाबर(Babar) से हमारा कोई संबंध नहीं है और ना ही उसके नाम से कोई निर्माण होगा।

राम जन्म भूमि भूजन कार्यक्रम को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

ज्ञात हो कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की तरफ से भेजे गए इस आमंत्रण पत्र में लिखा है श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का भूमिपूजन और कार्यारम्भ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर कमलों के द्वारा होगा।

अंसारी ने कहा कि प्रधानमंत्री ओली को तो अपने धर्म के बारे में जानकारी नहीं है। नेपाल में हिंदू विरोधी कार्य किया जाता है। वहीं नेपाल के प्रधानमंत्री अयोध्या के बारे में नहीं जानते, न ही वह अयोध्या कभी घूमे हैं।

बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे मोहम्मद इकबाल अंसारी ने सरकार से सीबीआई की विशेष अदालत में चल रहे बाबरी मस्जिद विध्वंस केस को खत्म करने की मांग की है। 

बाबरी मस्जिद पक्षकार रहे इकबाल अंसारी ने तबलीगी जमात पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

अयोध्या में दीपोत्सव के भव्य आयोजन को लेकर बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी काफी खुश हैं। इसको लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की है।

इकबाल अंसारी ने राहुल गांधी और कांग्रेस से पूछा है कि देश में कई जगह मसले हैं, राहुल गांधी वहां क्यों नहीं जाते हैं। राहुल गांधी पाक अधिकृत कश्मीर जो भारत का अंग है, वहां जाकर राजनीति क्यों नहीं करते हैं ?

अंसारी ने कहा कि चूंकि इसमें कई पक्ष हैं और समिति के सदस्यों को सबकी बात सुननी है इसलिए समिति को और ज्यादा समय मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन करेंगे।