Iran

उन्होंने कहा कि ईरान ने बार-बार घोषणा की है कि वह क्षेत्रीय देशों में घनिष्ठ सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार है। खामेनी ने ईरान और कतर के बीच आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने का भी आग्रह किया।

आरोप यह भी कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया है। पर ईरान की इस कार्रवाई से ब्रिटेन बेहद नाराज है। दरअसल ब्रिटेन के राजदूत विमान हादसे में मारे गए लोगों की शोक सभा में शामिल हुए थे।

इससे पहले ईरान ने कहा था कि विमान में खराबी की वजह से हादसा हुआ। विमान ने तेहरान के इमाम खुमैनी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से यूक्रेन की राजधानी कीव के बोर्यस्पिल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे लिए उड़ान भरी थी। बोइंग विमान में 176 लोग सवार थे। सभी लोगों की मौत हो गई।

ईरान-अमेरिका तनाव के बीच एक बार फिर बगदाद पर रॉकेट दागे जाने की खबर आई है। इराक स्थित अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट से हमला किया गया। रॉकेट अमेरिकी दूतावास से करीब 100 मीटर दूर गिरी।  

कुरैशी की यह टिप्पणी ईरान द्वारा इराक में अमेरिका के सैन्य ठिकानों पर मिसाइल हमले किए जाने के दिन आई हैं। अमेरिका के हमले में तीन जनवरी को ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी मारे गए थे।

इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर हुए हमले में 80 सैनिकों की मौत हुई है। यह दावा ईरानी मीडिया ने किया है। ईरानी सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद ईरान ने इराक स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर दर्जनभर बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला किया।

ईरान के खुरासान-ए-रिजवी प्रांत में अफगानिस्तान की सीमा के निकट बुधवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 5.8 दर्ज की गई।

यूक्रेन का एक बोइंग 737 विमान बुधवार को ईरान की राजधानी तेहरान से उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विमान में सवार सभी यात्रियों की मौत हो चुकी है। विमान में कम से कम 170 यात्री सवार थे। घटना तेहरान स्थित इमाम खुमैनी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास घटी है।

अमेरिका और ईरान में जंग की आशंका के बीच इराक में अमेरिकी सेना के ठिकानों पर हमला हुआ है। ईरान ने बुधवार को इराक में अमेरिका के दो सैन्य ठिकानों पर हमला किया और करीब एक दर्जन से ज्यादा मिसाइलें दागी हैं।

अंतिम संस्कार की रस्में मंगलवार को सुलेमानी के दक्षिणी गृहनगर केरमन में भी होंगी, जहां उनके पार्थिव शरीर को बुधवार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।