isis

सूत्रों के अनुसार, एक अधिकारी समेत चार लोग घायल हो गए, जिन्हें नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया। कमल के अनुसार, गश्ती दल क्षेत्र में एक सुरक्षा ऑपरेशन शुरू करने के लिए निरीक्षण करने आया था।

एफ्रीकॉम की डायरेक्टर ऑफ इंटेलिजेंस हीडी बर्ग ने कहा कि आईएसआईएस-लीबिया के खिलाफ चल रहा अभियान दर्शाता है कि अमेरिका अफ्रीका कमांड निर्दोष लीबियाई लोगों को नुकसान पहुंचाने वाले आतंकवादी नेटवर्क को लगातार निशाना बना रहा है।

भारत से अब तक ट्रम्प ने न तो आतंकवाद निरोधी अभियानों में हिस्सा लेने के लिए कहा और न ही भारत ने ऐसी इच्छा ही ज़ाहिर की है। पर अमेरिका का भारत से सैन्य अभियान में मदद की मांग करना पाकिस्तान के लिए एक बड़ा झटका है।

हवाई हमले में आईएस के 10 आतंकवादी मारे गए और उनका ठिकाना तथा वाहन नष्ट हो गए। इराकी सुरक्षा बलों द्वारा 2017 के अंत में देश भर में आईएस आतंकवादियों को पूरी तरह पराजित करने के बाद परिस्थितियां नाटकीय रूप से बेहतर हुई हैं।

माना जा रहा है कि तलाशी उन व्यक्तियों के जगहों पर ली जा रही है जो कथित तौर पर श्रीलंका में हाल ही में हुए सिलसिलेवार बम विस्फोटों के संदिग्धों के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़े थे। हमले में लगभग 250 लोग मारे गए थे। दूसरा कारण यह हो सकता है कि ये लोग कथित रूप से आईएसआईएस समूह के लिए लोगों को भर्ती कराने में शामिल हैं।

श्रीलंका में सीरियल बम ब्लास्ट के बाद आतंकियों की एक बड़ी साजिश का पता चला है। श्रीलंका के अधिकारियों का कहना है कि 15 आतंकियों का जत्था लक्षद्वीप की ओर बढ़ रहा है। इस अलर्ट के बाद भारतीय सीमा की सुरक्षा में लगी एजेंसियां मुस्तैद हो गई हैं। केरल तट पर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

पाकिस्तान की एक छात्रा का हैरान कर देने वाला कारनामा सामने आया है, जिसके बाद उस पर सिंध यूनिवर्सिटी की तरफ से कार्रवाई की गई है। बता दें कि सीरिया में इस्लामिक स्टेट से हथियार चलाने का प्रशिक्षण ले चुकी और लाहौर में एक चर्च पर असफल आत्मघाती हमले का हिस्सा रह चुकी 22 साल की एक छात्रा का दाखिला रद्द कर दिया है।

अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के ठिकानों पर मंगलवार को सुरक्षा बलों ने धावा बोलकर 22 आतंकवादियों को मार गिराया और 2 को पकड़ लिया गया।

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाली सिरिसेना ने दूरसंचार नियामक आयोग के महानिदेशक को आदेश दिया है कि 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन हुए विस्फोटों के बाद सोशल मीडिया पर लगाए गए अस्थायी प्रतिबंधों को हटा दिया जाए।

लंका में 21 अप्रैल ईस्टर के दिन हुए बम विस्फोटों के मुख्य संदिग्ध की बहन ने कहा है कि उसके परिवार के 18 सदस्य लापता हैं और उसने हमलों और छापों के बाद इनके मारे जाने की आशंका जताई है।