Jaish-E-mohammed

चीन ने बुधवार को कहा कि वह पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के प्रमुख मसूद अजहर को काली सूची में डालने के मुद्दे पर कड़ी परिश्रम कर रहा है। इसके साथ ही चीन ने अमेरिका को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में खुद का मसौदा प्रस्ताव पेश करने को लेकर एक बार फिर चेतावनी दी है।

हिंसक इस्लामिक आतंकी संगठनों को यूएन के प्रतिबंध से बचाने के लिए अमेरिका ने चीन को खरी खोटी सुनाई है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने चीन की आलोचना करते हुए कहा कि चीन अपने घर में लाखों मुस्लिमों को प्रताड़ित करता है, लेकिन हिंसक इस्लामिक आतंकी संगठनों को यूएन के प्रतिबंध से बचाता है।

अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने पर चीन का विरोध क्षेत्रीय स्थिरता पर अमेरिका के साथ इसके पारस्परिक लक्ष्य के विपरीत है। 

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले के साथ पाकिस्तान द्वारा आतंकी समूहों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने की जरूरत पर चर्चा के दौरान सोमवार को कहा कि अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ खड़ा है।

आतंकवादी संगठन 'जैश-ए-मोहम्मद' के सरगना मसूद अजहर के नाम के साथ 'जी' लगाए जाने के खिलाफ मंगलवार को बिहार की एक अदालत में परिवाद पत्र दाखिल कर कार्रवाई करने की मांग की गई है।

पुलवामा हमले के गुनहगार और आतंकी सरगना मसूद अजहर पर आज बैन लग सकता है। अतंर्राष्ट्रीय बिरादरी इस खूंखार आतंकी को ग्लोबल टेररिस्ट करार देकर पाबंदी लगा सकती है, बशर्ते अगर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के किसी भी सदस्य देश ने आपत्ति नहीं जताई तो आज शाम तक इस आतंकी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंधित किया जा सकता है। 

दरअसल केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल यह दावा करते हुए कहा है कि पाकिस्तान की ओर जाने वाली तीन नदियों का पानी भारत ने रोकने का काम किया है। अर्जुन मेघवाल रविवार को बीकानेर में थे

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार देश में किसी भी हथियारबंद समूह को काम नहीं करने देगी।

पुलवामा हमले के जिम्मेदारी लेने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर ने एक ऑडियो क्लिप जारी कर भारत-पाक विवाद के पीछे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को जिम्मेदार ठहराया है।

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले को अंजाम देने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा किया है।