Jyotish

अरविंद केजरीवाल की जन्म तिथि का विवरण गूगल से लिया हैं इसलिए मुझे ठीक से ज्ञात नहीं की यह जन्म तारिख कितनी हद तक ठीक है लेकिन फिर भी हम इसके आधार पर कुंडली का फलकथन करेंगे।

वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह को एक शुभ ग्रह माना गया है। इसके प्रभाव से व्यक्ति को भौतिक, शारीरिक और वैवाहिक सुखों की प्राप्ति होती है।

काम कामनाओं का बीज है। यह प्रकृति में सर्वव्यापी है। प्राकृतिक है। प्रकृति की सृजनशक्ति है। प्रत्येक शक्ति का नियमन भी होता है। नियमविहीन शक्ति अराजकता में प्रकट होती है। फिर काम को विराट शक्ति जाना गया है।

जिस तरह हमारे हाथों की हथेली में लकीरें होती हैं और वह हमें हमारे भविष्य की जानकारियां देती है ये बताती हैं हमें कि हम भाग्यशाली है या नहीं, आने वाले समय में क्या शुभ होगा और क्या अशुभ ठीक उसी तरह हमारे मस्तक या माथे पर भी लकीरें होती हैं जो बता सकती है कि हम भाग्यशाली हैं या नहीं।

24 जनवरी 2020 को सायंकाल शनि अपना राशि परिवर्तन कर रहे है। अब शनिदेव धनु से मकर राशि मे प्रवेश कर रहे है। शनि एक राशि मे ढाई साल रहते है और जब विपरीत फल देते है तो लोग त्राहिमाम करने लगते है।

"वास्तुशास्त्र के अनुसार दक्षिण दिशा में सिर करके सोने से नींद अच्छी आती है"। निद्रा हर प्राणी और वनस्पति के लिए अत्यंत आवश्यक है।

चाहे आपको ज्योतिष का ज्ञान हो या न हो, अपने भाग्य की स्थिति का ज्ञान तो हर व्यक्ति को होता है। अब यदि दुर्भाग्य पीछा न छोड़ रहा हो तो क्या ऐसा करें कि दुर्भाग्य सौभाग्य में बदल जाए।

गरीब कन्याओं को खुश किया जाए, उन्हें भोजन-कपड़े इत्यादि दान किए जाएं तो ऐसा करने से देवी प्रसन्न होकर अपने भक्तों पर अपार कृपा करती हैं।

यदि उक्त विधि को करना किसी के लिए संभव न हो, तब वह जल को पात्र में काले तिल डालकर दक्षिण दिशा की ओर मुँह करके तर्पण कर सकता है।

शिव पुराण के अनुसार चन्द्रमा का विवाह दक्ष प्रजापति की 27 कन्याओं से हुआ था। यह कन्याएं 27 नक्षत्र हैं। इनमें चन्द्रमा रोहिणी से विशेष स्नेह करते थे।