kailash vijayvargiya

मध्य प्रदेश में जारी सियासी उठापटक के बीच पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा बेंगलुरु पहुंचकर विधायकों से मुलाकात करने की कोशिशों पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने तंज कसा है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल रॉय को दक्षिण कोलकाता में नागरिकता संशोधन अधिनियम के समर्थन में रैली निकालने के दौरान हिरासत में ले लिया गया।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के लिए पार्टी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि मुर्शिदाबाद जाते समय उनकी गाड़ी को मुस्लिमों की भीड़ ने घेर लिया।

इंदौर 3 से बीजेपी के विधायक आकाश विजयवर्गीय बीजेपी के ताकतवर राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं। वे उस वक्त चर्चा में आए जब उन्होंने इंदौर के गंजी इलाके में नगर निगम के कर्मचारी पर बैट से हमला कर दिया।

लेकिन भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने बेटे आकाश विजयवर्गीय को नोटिस दिये जाने से अनभिज्ञता जताई है। कैलाश विजयवर्गीय से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, मुझे तो अभी जानकारी नहीं है।

विजयवर्गीय ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि अधिकारी को अहंकारी होना चाहिए। उन्हें लोगों के प्रतिनिधियों से बात करनी चाहिए। मैंने इस चीज की कमी देखी है। दोनों को समझना चाहिए, ताकि ऐसी घटना दोबारा ना हो। मैं पार्षद, मेयर और विभागीय मंत्री रह चुका हूं।

सीएमओ को काफी चोटें आई हैं और उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। इससे पहले, नगर निगम अधिकारी के साथ मारपीट करने के बाद बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और विधायक आकाश विजयवर्गीय जेल में बंद हैं।

लगभग दो दशक पहले का वाकया है, जब स्थानीय लोगों की पानी की समस्या को लेकर कैलाश विजयवर्गीय नगर निगम आयुक्त के आवास का घेराव करने पहुंचे थे। यहां विजयवर्गीय ने तब एक अधिकारी के सामने जूता तान लिया था। 

भाजपा अपने विधायक के समर्थन में उतर गई है और आकाश की गिरफ्तारी के विरोध में पार्टी के नेता विरोध प्रदर्शन करने वाले हैं। इसके सा ही इंदौर में जगह-जगह आकाश के समर्थन में पोस्टर भी लगाए गए हैं।

भाजपा अब शनिवार 22 जून को अपने तीन नेताओं के भाटपाड़ा भेजने वाली है। इस प्रतिनिधिमंडल में एस एस अहलूवालिया, सत्यपाल सिंह और वीडी राम के नाम शामिल हैं।