Kamalnath government

कांग्रेस की बागी विधायक इमरती देवी ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया हमारे नेता हैं। उन्होंने हमें बहुत कुछ सिखाया है। मैं हमेशा उसके साथ रहूंगी भले ही मुझे कुएं में क्यों न कूदना पड़े। 

कमलनाथ ने ये भी कहा कि बीजेपी ने आज अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है। उन्होंने 16 बंधक विधायकों को सामने लाने की मांग भी की। कमलनाथ का कहना है कि अगर किसी लगता है कि हमारे पास बहुमत नही है तो वो अविश्वास प्रस्ताव लेकर आए। 

बीते दो दिन पहले कुछ विधायकों के आने की खबरों को लेकर भारी संख्या में कार्यकर्ता हवाईअड्डे पर जमा हो गए थे और विवाद की स्थिति बनी थी। तब पुलिस उप महानिरीक्षक इरशाद वली ने हवाईअड्डे पर निषेधाज्ञा 144 लागू करने की जानकारी दी थी। वह अब भी लागू है।

मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायकों को रविवार को जयपुर से भोपाल लाया जा रहा है। विशेष विमान से लाए जा रहे ये विधायक भोपाल में एक साथ रखे जाएंगे।

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक 22 विधायक बेंगलुरु में हैं। इनमें 6 मंत्री भी थे। इन सभी 22 विधायकों ने अपनी सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

इन बागी विधायकों में से 6 विधायक को 13 मार्च को स्पीकर एनपी प्रजापति से मुलाकात करनी थी। विधायकों के न आने पर प्रजापति ने कहा कि उन्होंने 3 घंटे तक विधायकों का इंतजार किया, लेकिन कोई नहीं आया।

ज्ञात हो कि राज्य के 22 कांग्रेस विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। इनमें से 19 विधायक बेंगलुरू में हैं। इनमें छह मंत्री भी शामिल हैं। कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले सभी विधायक कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक हैं।

मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार की स्थितियां लगातार खराब होती जा रही हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पूरी ताकत से सरकार बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं मगर कोई न कोई पेच खिसकता ही जा रहा है।

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा को लेकर विवाद छिड़ गया है। बता दें कि शिवाजी महाराज की प्रतिमा अपमानजनक तरीके से हटाए जाने को लेकर गुस्साए लोगों ने छिंदवाड़ा नागपुर हाईवे जाम कर दिया जिसके बाद बिगड़ती स्थिति देख प्रशासन ने प्रतिमा को स्थापित करने को राजी हो गया।

लोगों का कहना है कि मूर्ति को बहुत ही अपमानजनक तरीके से हटाया गया, प्रशासन ने जेसीबी से ढकेल के मूर्ति को गिराने की कोशिश की लेकिन वहां मौजूद लोगों ने उसे गिरने नहीं दिया।