Karnatak

चुनावी नतीजों में भाजपा कर्नाटक में सबसे बड़े दल के रूप में सामने आए थी लेकिन बहुमत का जादुई आंकड़ा पार ना कर पाने के कारण वो सरकार ना बना सकी। इस वक्त सत्तारूढ़ कांग्रेस और जेडीएस के पास भी बहुमत नहीं दिखाई दे रहा है।

कर्नाटक में गठबंधन की सरकार का आगे का सफर तय करना राज्य की 28 लोकसभा सीटों के नतीजे पर निर्भर करेगा, तो विपक्षी भाजपा चुनाव बाद गठबंधन के बिखरने की स्थिति में सत्ता हथियाने का इंतजार कर रही है।

2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दो सीटों (वाराणसी और वडोदरा) से चुनाव लड़ा था और दोनों सीटों पर जीत दर्ज की थी। हालांकि बाद में उन्होंने वडोदरा सीट को उन्होंने छोड़ दिया था।

आपको बता दें कि स्टूडेंट्स की ओएमआर शीट और आंसर की भी वेबसाइट पर इससे पहले ही अपलोड की गई थी। कर्नाटक स्कूल एजुकेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर इसको लेकर नोटिफिकेशन भी जारी किया गया है। 

इसी मुद्दे पर इससे पहले दोपहर तक सदन स्थगित होने के बाद जब कार्यवाही दोबारा शुरू हुई, कांग्रेस नेता मल्लिकाजुर्न खड़गे ने एक वरिष्ठ भाजपा नेता और जनता दल(सेकुलर) के एक विधायक के बेटे के साथ टैप की गई बातचीत की ट्रांस्क्रिप्ट पढ़नी शुरू की

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शुक्रवार को सर्वोच्च न्यायालय के उस आदेश का स्वागत किया, जिसमें उसने मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा को...

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में मतदान खत्म होने के साथ ही एक्सिस माय इंडिया के सर्वे के नतीजे आ...

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा की 224 में से 222 सीटों पर मतदान संपन्न हो गया है। शाम 5 बजे तक...

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने कर्नाटक के आरआर नगर विधानसभा क्षेत्र में हजारों फर्जी वोटर आईडी कार्ड मिलने के बाद...

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कांग्रेस पर जाली पहचान पत्र का इस्तेमाल...