Kartarpur

जानिए पीएम मोदी ने नागरिकों के लिए क्या किया?

प्रधानमंत्री मोदी ने इस अवसर पर यात्री टर्मिनल भवन का भी उद्घाटन किया जिसे एकीकृत जांच चौकी (आईसीपी) भी कहा जाएगा। तीर्थयात्री 4.5 किलोमीटर लंबे नवनिर्मित कॉरिडोर से जाने के लिए यहीं से मंजूरी प्राप्त करेंगे

करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री पीएम मोदी, गुरदासपुर के बीजेपी सांसद सनी देओल, केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल डेरा बाबा नायक पहुंचें।

पिछले साल अगस्त में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने वाले कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर पाकिस्‍तान जाने के लिए तैयार हैं।

सीमा पार करतारपुर गलियारे (कॉरिडोर) के बहुप्रतीक्षित उद्घाटन से दो दिन पहले भारत ने पाकिस्तान द्वारा जारी किए गए गलियारे के आधिकारिक प्रचार वीडियो में जरनैल सिंह भिंडरावाले सहित तीन सिख अलगाववादी नेताओं की मौजूदगी पर चिंता व्यक्त की है

करतारपुर कॉरिडोर के उद्धाटन से पहले पाकिस्तान की सरकार ने एक वीडियो सॉन्ग रिलीज किया है, जिसमें खालिस्तानी अलगाववादी जरनैल सिंह भिंडरावाले व कई अन्य नेताओं की तस्वीरों के साथ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी नजर आ रहे हैं।

इमरान खान ने शुक्रवार को ट्वीट किया, "भारत से करतारपुर आने वाले सिख श्रद्धालुओं के लिए मैंने दो शर्ते हटा दी हैं। इसके तहत अब उन्हें पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी, बल्कि सिर्फ एक वैध पहचान पत्र दिखाने की जरूरत होगी। उन्हें अब 10 दिन पहले से पंजीकरण भी नहीं कराना होगा।"

सभी समुदाय के भारतीय श्रद्धालु करतारपुर कॉरिडोर का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस यात्रा के लिए वीजा फ्री होगा। श्रद्धालुओं को केवल अपना वैध पासपोर्ट ले जाना होगा।

पीआर ने इस विशेष अवसर पर विशेष रूप से सिख समुदाय के लिए यह ट्रेन चलाई है और लोवर एसी कोचों में से सीटें हटाकर कारपेट बिछाकर विशेष सेंट्रल हॉल बना दिया गया है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैसल ने कहा था कि पाकिस्तान सरकार करतारपुर कॉरिडोर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति से सुविधा शुल्क लेगी। यह रकम 20 यूएस डॉलर के बराबर होगी।