kartarpur corridor

करतारपुर कॉरिडोर पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा के दिमाग की उपज है और यह भारत को हमेशा नुकसान पहुंचाएगा। यह बयान शनिवार को इमरान सरकार के एक बड़े मंत्री ने दिया। इस बयान के जरिए उन्होंने अभी तक करतारपुर कॉरिडोर के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान  को दिए जाने वाले श्रेय से उलट बात कही है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दोनों के चहेते विधायक और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भारतीय जत्थे के साथ पाकिस्तान जाने के बजाय पाकिस्तान के निमंत्रण पर अलग से वहां गए और इमरान खान की तारीफों के पुल बांधे।

इमरान ने भी सिद्धू का गर्मजोशी के साथ स्‍वागत किया। इस बीच इमरान खान का एक विडियो वायरल हो गया है जिसमें वह कह रहे हैं कि 'हमारा सिद्धू किधर है।'

पीएम मोदी करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करने पहुंचें। इस मौके पर पीएम मोदी ने गुरुद्वारा में मत्था भी टेका।

भारत और पाकिस्तान के बीच सात दशकों बाद ऐतिहासिक करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यहां सिखों के एक तीर्थस्थल पर मत्था टेका।

पाकिस्तानी सेना ने अपने प्रधानमंत्री इमरान खान का दूसरा वादा भी रद्द कर दिया है। पाकिस्तान सेना ने साफ कर दिया कि कल यानी 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर आने वाले भारतीय श्रद्धालुओं से 20 डॉलर वसूला जाएगा।

नवजोत सिंह सिद्धू ने विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर पाकिस्तान जाने की अनुमति मांगी थी। उन्होंने गुरुवार को तीसरी बार विदेश मंत्री एस जयशंकर को खत लिखा और जाने की अनुमति देने की बात कही थी।

पिछले साल अगस्त में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने वाले कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर पाकिस्‍तान जाने के लिए तैयार हैं।

पाकिस्तान के रेल मंत्री का कहना है कि करतारपुर गलियारे का खुलना सेना प्रमुख जनरल बाजवा और इमरान सरकार की बड़ी जीत है। इसे ऐतिहासिक जीत बताते हुए रेल मंत्री ने पाकिस्तान में विपक्षी दलों को अक्ल के अंधे कहा और कहा कि इस गलियारे का फ़ायदा कश्मीर को कितना मिलने वाला है।

भारत के सिख श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर साहिब काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है और अब श्रद्धालु आसानी से करतारपुर जाकर दर्शन कर सकेंगे। 9 नवंबर को इसका उद्घाटन पीएम मोदी करेंगे।