lac

India and China Disengagement news: चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के साथ भारतीय सेना की टीम भी पैंगोंग झील में विस्थापन की जांच कर रहे हैं। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा, "यह भारतीय सेना और चीनी पीएलए के अधिकारियों का संयुक्त निरीक्षण दल है।"

A.K. Antony: एंटनी ने कांग्रेस(Congress) नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला के साथ नई दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि भारतीय एलएसी(LAC) फिंगर 8 तक था और फिंगर 3 से हटने के बाद, भारतीय सेना फिंगर 8 तक और फिंगर 4 पोस्ट के लिए भी गश्त करने का अधिकार खो देगी।

Laddakh Indian Army: गुरुवार शाम को एक वीडियो सामने आया जिसमें चीनी टैंक सीमा से पीछे हटती दिख रही हैं। यह वीडियो में सोशल मीडिया पर काफी वायरल भी हो रहा है।

Parliament Budget Session: गौरतलब है कि बीते कई महीनों से पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्च्यूअल कंट्रोल (LAC) पर लगातार तनातनी जारी है। इस बीच कई बार भारत और चीनी सेनाओं के बीच खूनी संघर्ष भी हो चुका है।

India-China Tension: लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC)पर चीन की नापाक करतूत जारी है। इसी कड़ी में एक बार फिर ड्रैगन ने नापाक साजिश को अंजाम देने की कोशिश की है। भारत और चीन के जवानों के बीच एलएसी पर एक बार फिर झड़प की खबर सामने आ रही है।

India China : बता दें कि इससे पहले 6 नवंबर को दोनों देशों के बीच वार्ता हुई थी। हर बार की तरह इस बार भी चीन के साथ वार्ता के दौरान विदेश मंत्रालय का एक अधिकारी बतौर प्रतिनिधि वहां पर मौजूद रहेगा।

खबरों की मानें तो चीन ने भारतीय सीमा में सड़कें तो बनाई ही हैं लेकिन इसके अलावा वहां गांव भी बसा दिए हैं। संसद में चीन की इस हरकत को उजागर करने वाले भाजपा सांसद तापिर गाओ का कहना है कि चीन 80 के दशक से यहां सड़क का निर्माण कार्य कर रहा है।

Pangong Lake : चीन(China) विवाद के बीच भारतीय सेना(Indian Army) की तरफ से तैयारियों पर गौर करें तो भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में विभिन्न पहाड़ियों पर करीब 50,000 से ज्यादा सैन्यकर्मियों को तैनात किया है।

Rajnath Singh on China and Pakistan: एक तरफ जहां भारत और चीन के बीच पिछले कई महीनों से वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर लगातार तनाव बना हुआ है। तो दूसरी ओर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की नापाक हरकतें भी जारी है।

ITBP: अरुणाचल प्रदेश(Arunachal Pradesh) के तवांग सेक्टर में ITBP के 55 बटालियन कमांडर कमांडेंट आईबी झा ने कहा कि, "चीन की जहां से भी आने की संभावना है हम उन सभी जगहों पर तैनात हैं हमारे सैनिक उन सभी जगहों पर लगातार निगरानी रखे हुए हैं। कोई भी घटना न घटे इसके लिए हमने पूरी तैयारी की हुई है।"