Lockdown Corona

उत्तर प्रदेश में इस समय कोरोना वायरस संक्रमण के 1134 मामले हैं। कुल 1294 मामलों में से 140 लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है।

मुमकिन है कि अगर लॉकडाउन फिर से आगे बढ़ता है तो इस बार किसानों को कुछ राहत मिल सकती है। क्योंकि सोमवार को वैसाखी है और इसी के साथ देश में खेती का सीज़न शुरू हो जाएगा।

सर्वे के अनुसार, कम आय और शिक्षा समूहों वाले लोगों की स्थिति सबसे कमजोर है, जहां 70:30 के हिस्से में अधिकांश लोगों के पास तीन सप्ताह से अधिक समय तक चलने के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं हैं।

पूरी दुनिया में अपना लोहा मनवा चुका अमेरिका अब कोरोना के आगे पस्त नजर आ रहा है। हालत ऐसी है कि वहां लोगों को दफनाने के लिए जगह कम पड़ रही है। बता दें कि देश में कोरोना से इतनी मौतें हुई हैं कि लाशों के लिए कब्रिस्‍तान कम पड़ गए।

कुछ का मानना है कि लॉकडाउन में छूट मिलेगी तो वहीं कुछ लोगों का मानना है कि लॉकडाउन अभी और आगे बढ़ेगा। हालांकि केंद्र सरकार की तरफ से इसको लेकर कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।

जिस तरह लॉकडाउन के बाद भी कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है उसको देखते हुए सरकार लॉकडाउन को हटाने या बनाये रखने पर लगातार मंथन कर रही है।

प्रधानमंत्री ने सामूहिक रूप से संपूर्ण मानव जाति के लिए एक नए वैश्वीकरण की शुरुआत करने का आह्वान किया। साथ ही कहा कि चिकित्सा अनुसंधान स्वतंत्र रूप से सभी देशों के लिए उपलब्ध होना चाहिए।

इधर कोरोना वायरस से इस वक्त 172 देश प्रभावित हैं। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक इस बीमारी से 4 लाख 38 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 19500 को पार कर चुकी है।

वैज्ञानिक के मुताबिक, अमेरिका या इटली में कोविड-19 धीरे-धीरे फैला और फिर अचानक तेजी से मामले आए। मौजूदा अनुमान देश में शुरुआती चरण के आंकड़ों पर है, जो कि कम टेस्टिंग की वजह से है।

कुछ लोग ऐसे पाए जा रहे हैं जो इस वायरस को बहुत हल्के में ले रहे हैं। वो ना तो इससे सतर्क रह रहे हैं और ना ही इसको लेकर गंभीर नजर आ रहे हैं।