#Lockdown3

दूसरे राज्यों के मुकाबले गुजरात में कोरोना के ठीक हो रहे मरीजों की दर बेहद अधिक है। पंजाब में कोरोना के मरीजों के ठीक होने की दर केवल 9 फीसदी है। चंडीगढ़ में यह 14 फीसदी, महाराष्ट्र में 19 फीसदी, ओडिशा में 21 फीसदी जबकि पश्चिम बंगाल मे यह 21 फीसदी तक सीमित है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने ट्वीट कर सरकार के फैसले का स्वागत किया और कहा, "हम एक राज्य से दूसरे राज्य में यात्री ट्रेनों के संचालन को एहतियात के साथ शुरू करने के सरकार के फैसले का स्वागत करते हैं। सड़क परिवहन और हवाई सेवाओं को भी शुरू किया जाना चाहिए।"

कोविड लॉकडाउन के दौरान राहुल गांधी पार्टी मामलों में अधिक सक्रिय रहे हैं। वह मामलों में मजबूती से हस्तक्षेप कर रहे हैं। इससे कांग्रेस के हलकों में इस तरह की चर्चा थी कि वह वापस लौट आएंगे। हालांकि, जब पत्रकारों ने पूछा कि आपकी सक्रियता फिर से नजर आ रही है तो उन्होंने सीधे जवाब नहीं दिया।

नए कानून में चिकित्सक पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिसकर्मियों, स्वच्छताकर्मी और सरकार द्वारा तैनात किसी भी कोरोना वॉरियर से अभद्रता या हमला करने वाले के लिए सात साल तक कैद और पांच लाख तक के जुर्माने की सजा का प्रावधान किया गया है।

राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा, "वायरस से निपटने के दौरान जोन के संदर्भ में सोचें। अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने (पुनरुद्धार) के लिए आपूर्ति श्रृंखलाओं (सप्लाई चेन) के बारे में सोचें।"

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि कोरोनावायरस से पिछले 24 घंटे में 195 लोगों की मौत हो गई है। वहीं संक्रमण के 3,900 नए मामले सामने आए हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार अब तक देश में इस वायरस से 46,433 लोग संक्रमित हो चुके हैं।

रेमेडिसविर का निर्माण गिलियड साइंसेज करती है। इसे नैदानिक डाटा के आधार पर अमेरिका में कोविड-19 के इलाज के लिए आपातकालीन अनुमति मिल चुकी है। गिलियड साइंसेज का दवा पर पेटेंट है, लेकिन पेटेंट कानून इस दवा को केवल अनुसंधान उद्देश्यों के लिए विकसित करने की अनुमति देता है न कि व्यावसायिक निर्माण के लिए।

मंगलवार को राज्य सरकार ने पेट्रोल और डीजल दोनों पर ही वैट बढ़ाने का ऐलान किया। पेट्रोल पर वैट को बढ़ाकर 27 फीसदी से 30 फीसदी कर दिया गया है, जबकि डीजल पर 16.77 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी कर दिया गया है।

लव अग्रवाल ने कहा कि जिस प्रकार लॉकडाउन में धीरे-धीरे ढील दी जा रही है, इस क्रम में जरूरी है कि कड़े रोकथाम उपायों, प्रभावी मेडिकल ​​प्रबंधन, संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के प्रयास जारी रखने की आवश्यकता है।

भारतीय रेलवे के मुताबिक, वह प्रवासी मजदूरों को उनके राज्य पहुंचाने के लिए मजदूरों को टिकट नहीं बेच रहा, ना ही उनसे किराया वसूल कर रहा है।बल्कि, यह किराया राज्य सरकारों से वसूला जा रहा है। भारतीय रेलवे राज्य सरकारों से इन मजदूरों को उनके गृह नगर तक पहुंचाने के लिए कुल लागत का सिर्फ 15 प्रतिशत मानक किराया वसूल रहा है।