Madhya Pradesh BJP

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान को लेकर ग्वालियर में रविवार को मुख्यमंत्री चौहान से सवाल किया गया तो उन्होंने शायराना अंदाज में गालिब के शेर के जरिए जवाब देते हुए कहा कि 'दिल बहलाने के लिए गालिब यह ख्याल अच्छा है।'

बुरहानपुर जिले के नेपानगर विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित विधायक सुमित्रा देवी ने शुक्रवार की दोपहर में विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने उनका इस्तीफा मंजूर भी कर लिया।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के फोन कॉल ने राज्य की सियासत गरमा दी है और कांग्रेस पार्टी को हमलावर होने का मौका दे दिया है।

मध्यप्रदेश में जमकर जारी राजनीतिक अस्थिरता के बीच 26 मार्च को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मतदान होगा। पर कांग्रेस का गणित विधायकों की बगावत के कारण गड़बड़ा गया है। नौ अप्रैल को राज्यसभा की तीन सीटें खाली हो रही हैं। कांग्रेस के दिग्विजय सिंह, बीजेपी के प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया का कार्यकाल समाप्त हो रहा है।

भाजपा ने विधानसभा की कार्यवाही 26 मार्च तक के लिए स्थगित किए जाने का विरोध किया है। इसी को लेकर भाजपा विधायक बस में सवार होकर राजभवन पहुंचे। भाजपा के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कमलनाथ सरकार को अल्पमत की सरकार दरार दिया है।

शिवराज के इस बयान को सिंधिया के मंदसौर कांड पर दिए गए बयान से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं दूसरी ओर प्रदेश के कई कांग्रेस नेताओं ने शिवराज के इस बयान को सिंधिया का अपमान बताया है। यही नहीं सोशल मीडिया पर भी शिवराज के इस भाषण को लेकर कई प्रकार के कमेंट आ रहे हैं।