Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश में सामाजिक, राजनीतिक, खेलकूद संबंधी, साहित्यिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम और अन्य गतिविधियां भी प्रतिबंधित होंगी। सभी धार्मिक स्थान, पूजन स्थल बंद रहेंगे।

यह वाकया गोटेगांव तहसील के झोतेश्वर कस्बे का है। यहां श्रीनगर में रहने वाले लक्ष्मण चौधरी का विवाह नरसिंहपुर के इतवारा की ऋतु के साथ तय हुआ था। प्रशासन ने दोनों परिवारों को विवाह संपन्न कराने की अनुमति दे रखी थी, मगर उन्हें कोई पंडित नहीं मिल रहा था। यह विवाह समारोह सीमित लोगों की मौजूदगी में संपन्न होना था।

उन्होंने बताया कि जब पूछताछ की गई तो मजदूरों ने बताया कि वे इसमें सवार होकर महाराष्ट्र से लखनऊ जा रहे हैं। इन मजदूरों को क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया है, वहीं मिक्सर को जब्त कर सांवेर थाने में आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और मध्य प्रदेश के प्रभारी पद से दीपक बाबरिया द्वारा दिए गए इस्तीफे को पार्टी ने मंजूर कर लिया है। पार्टी ने मध्य प्रदेश का अतिरिक्त प्रभार मुकुल वासनिक को सौंपा है।

मध्य प्रदेश सरकार लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए लगभग एक करोड़ व्‍यक्तियों को मुफ्त में विशेष त्रिकुट चूर्ण काढ़ा वितरित करेगी।

कोरोना महामारी के चलते उठाए गए एहतियाती कदमों के चलते मध्य प्रदेश के हजारों मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं। इन मजदूरों की घर वापसी के प्रयास तेज हो गए हैं। गुजरात से लगभग 24 सौ मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाया जा रहा है।

कोरोनावायरस को लेकर मध्य प्रदेश सरकार बेहद गंभीरता से काम कर रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह खुद इससे जुड़ी हर एक जांच पर पैनी नजर बनाए हुए हैं।

शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ अन्य भाजपा नेता भी मौजूद रहे। भाजपा के कई बड़े नेता जो मंत्री पद के दावेदार हैं, वे शपथ ग्रहण से पहले भोपाल में थे मगर सूची में नाम न आने पर अपने अपने क्षेत्रों को लौट गए। लिहाजा शपथ ग्रहण में भी वे नहीं पहुंचे।

ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री पद की शपथ शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को ली थी। वर्तमान में राज्य कोरोना की महामारी से जूझ रहा है। इसी के चलते छोटे मंत्रिमंडल का गठन हो रहा है।

उज्जैन मध्य प्रदेश का तीसरा सबसे ज्यादा संक्रमित जिला है। यहां अब तक कोरोना के 27 मरीजों की पहचान हो चुकी है। इनमें से 7 की मौत हो गई, जबकि 4 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। प्रदेश में इंदौर और भोपाल कोरोना संक्रमण के मामले में पहले और दूसरे नंबर पर हैं।