Maharashtra

आज के ही दिन शिवसेना की स्थापना स्वर्गीय बाला साहेब ठाकरे ने की थी। कोरोना महामारी की वजह से 54वें स्थापना दिवस को नहीं मनाने का फैसला लिया गया।

बता दें कि दक्षिण-पश्चिम मानसून ने रविवार को महाराष्ट्र के साथ ही गुजरात और छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में दस्तक दे दी है। इसी कारण महाराष्ट्र के जलगांव में रविवार को भारी बारिश हुई। इसके बाद ही अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में पानी घुस गया।

सीआर-डब्ल्यूआर के संयुक्त बयान में आगे कहा गया, "लोगों से अनुरोध किया जाता है कि स्टेशनों पर जल्दबाजी न करें और चिकित्सा और सामाजिक प्रोटोकॉल का पालन करें, जैसा कि कोविड-19 के लिए अनिवार्य है।"

महाराष्ट्र में शिवसेना नीत महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार में तनाव के संकेत दिख रहे हैं, जहां गठबंधन की तीन सहयोगियों में से एक कांग्रेस, प्रमुख निर्णय लेने की प्रक्रिया और महत्वपूर्ण बैठकों में खुद को शामिल कराने का प्रयास कर रही है।

मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, 'महाराष्ट्र में हर दिन 38 हजार कोरोना टेस्ट की क्षमता है लेकिन सिर्फ 14 हजार टेस्ट हो रहे हैं। मुंबई में ही 12 हजार टेस्ट प्रतिदिन की क्षमता है लेकिन चार हजार टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं। सरकार कम टेस्ट करके कोरोना के केस कम रखना चाहती है।'

अस्पतालों से वायरल ट्रांसपोर्ट मीडिया (वीटीएम) के जरिए होने वाले स्वैब टेस्ट के लिए 2200 रुपये लिए जांएगे जबकि घर से सैंपल लेने पर मरीजों को 2,800 रुपये लिए जाएंगे।

उन्होंने दोस्तों और परिचितों से मदद की गुहार लगाई और यह बात सोशल मीडिया पर भी छाई रही और आखिरकार यह बात युवा सेना के कार्यकर्ताओं राहुल कनाल और हुसैन शाह तक पहुंची।

भारत में भी इस महामारी ने जहां अपना कहर सबसे ज्यादा बरपाया है वह है महाराष्ट्र। महाराष्ट्र में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख को पार कर गया है।

देश में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है। राज्य ने कोरोना के मामले में चीन को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में एक और कैबिनेट मंत्री के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की बात सामने आई है। इतना ही नहीं मंत्री के पांच निजी कर्मचारियों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है।

उद्धव ठाकरे ने चेतावनी दी है कि अगर नियमों का पालन नहीं किया जाएगा तो फिर से लॉकडाउन लागू किया जा सकता है। उद्धव ठाकरे ने कहा, 'कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, ऐसे में अगर भीड़ का जुटना जारी रहा तो लॉकडाउन को अभी और आगे बढ़ाया जा सकता है। ढील दी गई है, इसे बर्बाद न करें।'