Mallikarjun khadge

मल्लिकार्जुन खड़गे ने सवाल खड़े किए थे और इसे तमाशा बताया था। अब कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने खड़गे को करारा जवाब दिया है और कहा है कि, ये कोई तमाशा नहीं बल्कि हमारी परंपरा है।

कांग्रेस इन दिनों भीतरी कलह से जूझ रही है। लोकसभा चुनाव में भारी हार के बाद कांग्रेस के भीतर काफी उथल-पुथल मची हुई है। पहले राहुल गांधी ने अध्यक्ष का पद छोड़ा और उनकी मां सोनिया ने उसे संभाल लिया।

दिन में उर्मिला मातोंडकर ने पार्टी से इस्तीफा दिया, फिर शाम को वरिष्ठ नेता कृपाशंकर सिंह ने पार्टी छोड़ दी। बता दें कि 2004 में महाराष्ट्र सरकार में राज्यमंत्री रहे कृपाशंकर सिंह ने अपना इस्तीफा मल्लिकाअर्जुन खड़गे को सौंपा।

सोनिया गांधी को कांग्रेस नेताओं ने एक बार फिर से पार्टी की बागडोर सौंप दी है। 72 दिन यानी करीब ढाई महीने की उहापोह की स्थिति के बाद सोनिया गांधी को फिर से कांग्रेस का सिरमौर बनाया गया है।

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर फैसला के लिए शनिवार को कांग्रेस वर्किंग कमिटी (CWC) की बैठक रात 8 बजे दोबारा होगी। इसमें राहुल गांधी के उत्तराधिकारी पर फैसला लिया जाएगा।

नया कांग्रेस अध्यक्ष चुनने के लिए जोन के हिसाब से पांच नेताओं की टीम बनाई गई है, जिसमें सोनिया गांधी और राहुल गांधी के भी नाम शामिल थे। लेकिन सोनिया ने इस बात पर ऐतराज जताया और खुद को और राहुल को इस कमेटी से अलग कर लिया।

इसी मुद्दे पर इससे पहले दोपहर तक सदन स्थगित होने के बाद जब कार्यवाही दोबारा शुरू हुई, कांग्रेस नेता मल्लिकाजुर्न खड़गे ने एक वरिष्ठ भाजपा नेता और जनता दल(सेकुलर) के एक विधायक के बेटे के साथ टैप की गई बातचीत की ट्रांस्क्रिप्ट पढ़नी शुरू की

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शुक्रवार को लोकसभा में नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के संबंध में नोटिस दिया।...

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने खुलासा किया है कि उन्हें धमकियां मिल रही हैं। खड़गे...