mamta banarjee

सरकारी, निजी अस्पतालों और नर्सिग होम के डॉक्टरों ने आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाओं का बहिष्कार किया। उस्मानिया अस्पताल के डॉक्टरों ने इस हमले में शामिल लोगों को सजा देने की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

प्रदेश सरकार ने हड़ताल कर रहे डॉक्टरों को मुख्यमंत्री से बातचीत के लिए औपचारिक आमंत्रण भेजा था, जिसमें लाइव मीडिया प्रसारण का कोई जिक्र नहीं किया गया था।

राज्य शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि अर्धप्रतिमा को उसी जगह पर स्थापित कर दिया जाएगा जहां पहले पुरानी प्रतिमा थी। ममता बनर्जी इसके कॉलेज के प्रवेश द्वार पर विद्यासागर की पूर्ण प्रतिमा का भी अनावरण करेंगी।

हाल फिलहाल में उन्हें केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) द्वारा कई बार तलब किया गया था, लेकिन वह अवकाश पर होने की बात कह कर पेश होने से मुकर जाते थे।

कुछ सूत्रों का कहना है कि ममता की यात्रा वाले मार्ग को ‘बिल्कुल खाली’ कराया जा सकता है। सामान्य रूप से उस तरह के मार्ग को पूरी तरह से बिल्कुल खाली कराया जाता है जहां नेताओं के खिलाफ काले झंडे दिखाने या विरोध प्रदर्शन की आशंका होती है।

साक्षी महाराज ने ये भी कहा कि ममता का शासन अलगाववाद से कम नहीं है। इससे बंगाली आहत हैं और इसका खामियाजा ममता को भुगतान पड़ेगा। विधानसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सरकार बनेगी।

दिल्ली में भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में तीन विधायक भाजपा में शामिल हुए। इनमें भाजपा नेता मुकुल रॉय के बेटे सुभ्रांग्शु रॉय शामिल हैं।

बिम्सटेक देशों के राष्ट्राध्यक्षों को निमंत्रण भेजे जाने के अलावा सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों, सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों, सभी उपमुख्यमंत्री, सांसदों को भी बुलाया गया है।

ममता ने कहा, "पांच महीने से हमें काम नहीं करने दिया गया। मैंने उन सभी अफसरों से कहा जो अब आयोग के अधीन हैं। मुझे नहीं लगता कि यह परिदृश्य भारत में कहीं भी बना होगा, मगर बंगाल में सचमुच ऐसा हुआ।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने यह दावा करते हुए एक राष्ट्रीय राजमार्ग और रेल पटरियां शनिवार को दो घंटे के लिए जाम कर दीं कि घोष तृणमूल छोड़कर भाजपा के लिए काम करने लगा था।