mamta banarjee

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी लोकसभा चुनाव में खूब सुर्खियां बटोर चुकी हैं। जिसको लेकर चुनाव आयोग भी सख्त कार्रवाई कर चुका है।

शिवराज सिंह चौहान ने संवाददाताओं से कहा, "कांग्रेस मध्य प्रदेश को पश्चिम बंगाल बनाने पर तुली है। पराजय सुनिश्चित है, इससे बौखलाकर अब कांग्रेस हिंसा का सहारा ले रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है।

कोलकाता में हिंसा फैलने के बाद चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में अपराध जांच शाखा (सीआईडी) के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) राजीव कुमार को उनके पद से हटाकर गृह मंत्रालय में तैनात होने का आदेश दिया था।

बग्गा ने अपने ट्वीट के जरिए लोगों से अपील की है कि पोस्ट कार्ड पर सभी लोग  'जय श्रीराम' लिखकर अपने नजदीकी लेटरबॉक्स में छोड़ दें। यह ममता बनर्जी के पते पर पहुंच जाएगा।

राजनाथ ने ट्वीट में कहा, "कानून-व्यवस्था किसी राज्य सरकार और उसके मुख्यमंत्री की प्राथमिक जिम्मेदारी है। पश्चिम बंगाल सरकार ओर मुख्यमंत्री को मौजूदा हालात की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।"

आगामी 19 मई को लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के मतदान के मद्देनजर आदित्यनाथ यहां तीन जनसभाओं -उत्तर 24 परगना जिला के हाबड़ा, उत्तर कोलकाता के फूलबागान गेट और दक्षिण कोलकाता के बेहाला में- को संबोधित करने वाले थे।

अमित शाह के आरोपों के बाद अब टीएमसी ने भी प्रेस कांफ्रेंस करके पलटवार किया है। बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने प्रेस कांफ्रेंस में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर कई आरोप लगाए।

अमित शाह ने ये भी कहा कि, "मुझे स्वामी विवेकानंद जी के घर ले जाने की बात की गई पर मुझे माला भी नहीं चढ़ाने दिया गया। इसका मुझे मलाल है।

रविवार को नौ संसदीय क्षेत्र दमदम, बारासात, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, डायमंड हार्बर, जादवपुर, दक्षिण कोलकाता और उत्तर कोलकाता में मतदान होगा। 

पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी के बीच तकरार कम होने का नाम नहीं ले रही है। ऐसा कई दफा हुआ है कि बीजेपी के बड़े नेताओं को रैली करने से रोका गया है।