Man Ki Bat

प्रधानमंत्री ने कहा कि एक ओर देश कोरोना महामारी की समस्या से जूझ रहा है। वहीं पड़ोसियों की चालबाजियों ने दोहरी चुनौती खड़ी कर दी है।

पीएम मोदी ने कहा कि, “कोरोना के खिलाफ लड़ाई का यह रास्ता लंबा है। एक ऐसी आपदा जिसका पूरी दुनिया के पास कोई इलाज नहीं है। जिसका कोई पहले का अनुभव ही नहीं है।

इतना ही नहीं पीएम मोदी ने रमजान के अलावा अक्षय तृतीया का भी जिक्र किया और इसका महत्व बताया। अक्षय तृतीया को लेकर उन्होंने बताया कि इसी दिन पांडवों को अक्षय पात्र मिला था, जिसमें भोजन कभी खत्म नहीं होता था।

मन की बात में पीएम मोदी ने कहा कि, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत, गरीबों के अकाउंट में पैसे सीधे ट्रान्सफर किए जा रहे हैं। वृद्धावस्था पेंशन जारी की गई है। गरीबों को तीन महीने के मुफ्त गैस सिलेंडर, राशन जैसी सुविधाएं भी दी जा रही हैं।

शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लोगों से आज के 'मन की बात' कार्यक्रम सुनने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट किया, 'इस बार के कार्यक्रम के लिए लोगों की तरफ से ढेर सारे सुझाव मिले हैं, 11 बजे सुनिए मन की बात।'

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी का रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' हर माह के आखिरी रविवार को प्रसारित किया जाता है। इसमें प्रधानमंत्री ताजा मामलों पर अपनी बात रखते हैं।

पीएम मोदी अपने दूसरे कार्यकाल में आज चौथी बार मन की बात कार्यक्रम में संबोधन कर रहे हैं। अपने संबोधन के शुरुआत में उन्होने स्वर कोकिला लता मंगेशकर को जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के विद्यार्थियों के लिए दिलचस्प प्रतियोगिता के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि क्विज कॉम्पीटिशन के जरिए सबसे ज्यादा नंबर पाने वाले बच्चों को 7 सितंबर को श्रीहरिकोटा ले जाया जाएगा और चंद्रयान 2 की लैडिंग देखने का मौका मिलेगा।

2019 लोकसभा चुनाव के नतीजे मोदी सरकार के पक्ष में रहे ऐसे में पीएम मोदी ने जनता से किए अपने वादे को एक बार फिर से पूरा करने के उद्देश्य से जनता से मुखातिब होने का अपना संकल्प पूरा करने की कवायद शुरू कर दी है।

चुनाव से पहले और अपने पहले कार्यकाल में अंतिम बार पीएम मोदी ने मन की बात 24 फरवरी को की थी। जिसमें पीएम मोदी ने कहा था कि इस रेडियो कार्यक्रम से उन्हें विशेष अनुभव प्राप्त हुआ है।