Manish Sisodia

दिन-ब-दिन दिल्ली में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में इजाफा हो रहा है। अरविंद केजरीवाल सरकार इससे निपटने की हरसंभव कोशिश कर रही है।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली सरकार को केवल सैलरी और साधारण खर्च के लिए हर महीने 3500 करोड़ रुपये चाहिए।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने Covid -19 से निपटने के लिए जापानी टेक्नोलॉजी से सेनिटाइजेशन का अभियान शुरू किया। जिसकी शुरुआत उन्होंने मयूर विहार फेज 2 से की।

उन्होंने लोगों से कहा, "बड़ी परेशानी को टालने के लिए छोटी-छोटी परेशानियां तो झेलनी पड़ेंगी।" इससे पहले रविवार को दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था, "दिल्ली के बॉर्डर पर जो लोग हैं वो केवल दिल्ली से नहीं बल्कि हरियाणा, पंजाब, राजस्थान तक से आए लोग हैं।"

दुनिया भर में महामारी की तरह फैल रहा कोरोना वायरस अब आईपीएल के लिए भी संकट बन गया है। बता दें, 29 मार्च से शुरु हो रहे इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन को इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन को कोरोना वायरस की वजह से बड़ा झटका लगा है।

दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल बुधवार को पूरे एक्‍शन में दिखे। विधानसभा सत्र में उन्‍होंने हिंसा में शहीद हुए रतन लाल के परिवार को आर्थिक मदद के एलान का किया।

दिल्ली विधानसभा का तीन दिन का सत्र सोमवार को शुरू हुआ जिसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सदस्यों के तौर पर शपथ ली।

केजरीवाल सरकार में वित्तमंत्री व दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान सिसोदिया ने दिल्ली नगर निगम के लिए फंड की आवश्यकता और केंद्रीय करो में हिस्सेदारी जैसे मुद्दे वित्तमंत्री के सामने रखे ।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शपथ ग्रहण के एक दिन बाद सोमवार को अपना कार्यभार संभाल लिया। दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में केजरीवाल का यह लगातार तीसरा कार्यकाल है। मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, राजेंद्र पाल गौतम, इमरान हुसैन और गोपाल राय सहित उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों ने भी दिल्ली सचिवालय में कार्यभार संभाल लिया।

अरविंद केजरीवाल की नई सरकार में सारे मंत्री रिपीट किए जाएंगे। पहले उम्मीद जताई जा रही थी कि मंत्रिमंडल में बदलाव भी हो सकता है पर अरविंद केजरीवाल का मानना है कि इसी सरकार के काम पर हम दोबारा जीत कर आए हैं।