Meerut

अरशद अली ने पंजाब में RSS नेता की हत्या के मामले में हथियार सप्लाई किए थे। बुलंदशहर में अरशद पर आधा दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस की जांच में पता चला कि मेरठ के शाकिब ने लुधियाना में अपना नाम बदकर अमन कर लिया था। वह मई 2019 में छात्रा को लेकर लुधियाना से फरार हो गया।

लोगों की माने तो मेरठ के थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र के कमेला रोड का है। जहां बुजुर्ग की मौत होने के बाद उसके शव को ले जाने के लिए जब लोग आगे नहीं आए तो परिजनों ने ठेले में शव को रखवाया जिसके बाद उसे दफनाने के लिए कब्रिस्तान की तरफ रवाना हुए।

मेरठ के लाला जी लाजपत राय स्मारक चिकित्सा महाविद्यालय के प्रचार्य आरसी गुप्ता ने बताया, "मृतक मेरठ के पहले संक्रमित मरीज इकरामुल हसन के ससुर थे। मृतक की उम्र 72 साल थी। वह 29 मार्च को एडमिट हुए थे।"

लॉकडाउन के बीच यूपी के मेरठ प्रशासन ने एक बड़ा फैसला लिया है। इस फैसले के तहत मेरठ जिले में 25 मई तक धारा 144 लागू कर दी गई है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में 20 दिसंबर को जबरदस्त उपद्रव और हिंसा हुई थी। इस दौरान हुए उपद्रव में पुलिस प्रशासन पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई गई थी।

न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए विनीत अग्रवाल ने कहा, ''ये जो जहरीली हवा आ रही है, हो सकता है किसी बगल के मुल्क ने छोड़ी हो, जो हमसे घबराया हुआ है। मुझे लगता है पाकिस्तान या चीन हमसे घबराए हुए हैं।' उन्होंने कहा, 'जब से मोदी सरकार बनी है, तब से पाकिस्तान कंगाल हो गया है। इससे उसमें बौखलाहट है।''

पुलिस ने जिस अंदाज में अपराधियों का पीछा कर उन्हें गोली मारी, वो कल्पना से भी परे है। यूपी के भीतर इतनी चुस्त-दुरुस्त और एक्टिव पुलिस की कल्पना भी नही की जा सकती है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ से हिन्दू परिवारों के कथित पलायन पर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रतिक्रिया दी है। सीएम योगी ने कहा कि अब हम सत्ता में आ गए हैं, अब कौन पलायन करेगा? उन्होंने कहा कि कुछ लोग निजी वजहों से इलाका छोड़ सकते हैं, लेकिन पलायन जैसी कोई बात नहीं है।

मंगलवार को अनंतनाग में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में मेरठ निवासी मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए। इससे पहले सोमवार को अनंतनाग के एकिंगम में आतंकियों के छिपे होने का इनपुट मिला था। 2012 में IMA देहरादून से पास होकर सेना में लेफ्टिनेंट बने थे केतन शर्मा।