Mehbooba Mufti

Jammu & Kashmir: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री व पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती सईद को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 15 मार्च को पूछताछ के लिए बुलाया है।

Mehbooba Mufti: श्रीनगर (Sri Nagar) के रहने वाले इनाम उन नबी सौदागर (Inam-un-Nabi Soudagar) ने आरटीआई (RTI) डालकर यह जानकारी मांगी थी। इसके बाद प्रोटोकॉल एंड हॉस्पिटलिटी विभाग ने महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के मुख्यमंत्री बनने के बाद जनवरी से जून 2018 के बीच सरकारी आवास पर किए गए खर्चों का बिंदुवार ब्योरा दिया है। 

J&K: महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने आरोप लगाया था कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) की जमीन को बेचना चाहती है, आज बाहर से आकर लोग यहां नौकरी कर रहे हैं लेकिन हमारे बच्चों को नौकरी नहीं मिल रही है।

रोशनी एक्ट की आड़ में सरकारी भूमि की लूट का आलम यह था कि नैशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस जैसी पार्टियों के प्रदेश कार्यालय इसी एक्ट की आड़ में हथियाई गयी भूमि पर बने हैं। कांग्रेस-पीडीपी गठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री रहे गुलाम नबी आज़ाद ने सैकड़ों करोड़ की सरकारी भूमि अपने चहेतों को कौड़ियों के भाव आवंटित कर दी।

Rohingya Jammu Kashmir: बता दें कि रोहिंग्या(Rohingya) शरणार्थियों को अब ऐसे इलाकों में भेजा जाएगा, जो सुरक्षा की दृष्टि से संवेदनशील नहीं हैं। इसके साथ ही पाकिस्तान(Pakistan) और यूएई(UAE) से हवाला फंडिंग के सहारे शरणार्थियों को लाकर बसाने में शामिल एनजीओ के खिलाफ कार्रवाई पर भी विचार किया जा रहा है।

Mehbooba Mufti: महबूबा मुफ्ती(Mehbooba Mufti) ने शुक्रवार को आरोप लगाया था कि उन्हें फिर से हिरासत में ले लिया गया है और यहां तक कि उनकी बेटी को भी नजरबंद कर दिया गया है।

Mehbooba Mufti Alleges Detained Again: जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती (Former CM Mehbooba Mufti) को एक बार फिर नजरबंद कर दिया गया है। इसकी जानकारी खुद उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए ट्वीट करके दी है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के रोशनी जमीन घोटाले (Roshni Land Scam) में हर रोज एक के बाद एक बड़े खुलासे हो रहे है। 25 हजार करोड़ के इस जमीन घोटाले में कई पार्टी के बड़े राजनेताओं और नौकरशाहों के शामिल होने की जानकारी सामने आई है। 

Jammu & Kashmir: गुपकार गठबंधन (Gupkar Alliance) के बावजूद इनके घटक दलों ने एक दूसरे को नुकसान पहुंचाने के लिए कई सीटों पर डमी उम्मीदवार भी खड़े किए हैं। यही नहीं कांग्रेस (Congress) ने तो कई सीटों पर सभी पार्टियों के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने की घोषणा की है।

Jammu & Kashmir:जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) से धारा 370 हटने के बाद से जहां एक ओर वहां के क्षेत्रीय राजनीतिक दल केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले खड़े हैं। वहीं पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) अपनी नजरबंदी से रिहाई के बाद से लगातार ऐसा बयान दे रही हैं जो विवाद का कारण बन जा रहा है।