mercy petition

निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के एक दोषी अक्षय ठाकुर की दया याचिका राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने खारिज कर दी है। अक्षय ठाकुर ने शनिवार को राष्ट्रपति के पास दया याचिका भेजी थी।

निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में चार दोषियों की फांसी की सजा पर अनिश्चितकालीन रोक को चुनौती देने वाली केंद्र सरकार की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने रविवार को अपना फैसला सुरक्षित कर लिया।

निर्भया के गुनहगार अपनी फांसी टलवाने की खातिर कानून से खिलवाड़ कर रहे हैं। वे अपने पास मौजूद विकल्पों का इस तरह इस्तेमाल कर रहे हैं कि फांसी में लगातार देरी होती जाए।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को निर्भया के दोषी विनय शर्मा की दया याचिका खारिज कर दी है। चारों दोषियों में से यह दूसरी दया याचिका है, जो राष्ट्रपति के पास लगाई गई थी। गौर हो इससे पहले मुकेश की दया याचिका राष्ट्रपति खारिज कर चुके हैं।

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया केस के दो दोषियों की क्यूरेटिव याचिका को खारिज कर दिया। इस याचिका के खारिज के होने के बाद दोषी मुकेश राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास अपनी दया याचिका भेजी है।

राष्ट्रपति ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा एक गंभीर मुद्दा है, पॉक्सो एक्ट के तहत सज़ा पाए दुष्कर्म के अपराधियों को दया याचिका का अधिकार नहीं मिलना चाहिए।