Ministry of Health

कोरोनावायरस के संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर लगातार बढ़ रही है और संक्रमण से लोगों के मरने की दर वैश्विक औसत से बहुत नीचे बनी हुई है।

देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए भारत सरकार ने 24 मार्च को वेंटिलेटर्स के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था, सरकार को डर था कि देश में ज्यादा कोरोना फैलने पर वेंटिलेटर्स की कमी हो सकती है।

कोरोनावायरस से जंग को लेकर भारत के लिए एक अच्छी खबर आ रही है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोनावायरस की वैक्सीन को लेकर कहा है पूर्ण रूप से स्वदेशी कोविड-19 वैक्सीन के पहले और दूसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल शुरू हो गया है।

भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच देश में धीरे-धीरे कोरोना के लिए अपनी परीक्षण क्षमता को बढ़ा दिया है। इसके साथ ही एक दिन में 4.20 लाख से अधिक परीक्षण किए गए हैं।

केंद्र सरकार ने एन-95 मास्क के इस्तेमाल के खिलाफ चेतावनी जारी की है। उन्होंने इस संबंध में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखा, जिसमें इसके इस्तेमाल को कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए उठाए गए कदमों के विपरीत बताया है।

आंकड़ों के अनुसार, कुल 8,20,916 मामलों में से अब तक 5,15,385 मरीज ठीक हुए हैं जबकि देश में 2,83,407 सक्रिय मामले हैं। अब कोविड -19 रोगियों के ठीक होने की संख्या और सक्रिय मामलों की संख्या का अंतर दो लाख तक बढ़ गया है।

इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 7,19,665 हो गई है। जिनमें से 2,59,557 सक्रिय मामले हैं, 4,39,948 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 20,160 लोगों की मौत हो चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड से अब तक 14,476 लोग मर चुके हैं। वर्तमान में सक्रिय मामलों की संख्या 1,83,022 है और ठीक हुए रोगियों की संख्या 2,58,685 है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 से अभी तक 4,40,215 लोग बीमार हो चुके हैं। इसमें से 1,78,014 सक्रिय मरीज हैं, जबकि 2,48,190 लोग ठीक हो चुके हैं। मृतकों का आंकड़ा 14011 हो गया है।

भारत में कोरोनावायरस (कोविड-19) मामलों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। देश में सोमवार को कोरोना के मामलों की संख्या 4,25,282 तक पहुंच गई है और पिछले 24 घंटों के दौरान 14,821 नए मामले दर्ज किए गए हैं।